लखीमपुर घटना पर औरंगाबाद रहेगा 100 प्रतिशत बंद, महाविकास आघाडी के नेताओं का दावा

    औरंगाबाद. यूपी (UP) के लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) में हुए दर्दनाक हादसे के बाद देश भर के नागरिकों में यूपी की योगी सरकार (Yogi Government) के खिलाफ गुस्सा उमड़ रहा है। इस हादसे में 9 लोगों ने अपनी जान गंवायी है। इस घटना के निषेध करने और किसानों (Farmers) का आवाज दबाने का प्रयास करनेवाले यूपी के योगी सरकार के खिलाफ महाविकास आघाडी की ओर से सोमवार को महाराष्ट्र बंद (Maharashtra Bandh) का ऐलान किया गया है। औरंगाबाद (Aurangabad) में बंद 100 प्रतिशत रहेगा। यह दावा शिवसेना के जिला प्रमुख अंबादास दानवे, कांग्रेस के जिलाध्यक्ष डॉ. कल्याण काले, एनसीपी के ग्रामीण जिलाध्यक्ष कैलास पाटिल, कांग्रेस शहराध्यक्ष हिशाम उस्मानी ने किया।

    सोमवार को महाविकास आघाडी ने लखीमपुर की घटना के खिलाफ महाराष्ट्र बंद का ऐलान किया है। औरंगाबाद में बंद सफल करने के लिए महाविकास आघाडी सरकार के पदाधिकारियों की एक बैठक सेना जिलाध्यक्ष और विधायक अंबादास दानवे के प्रमुख उपस्थिति में बैठक संपन्न हुई। 

    व्यापारियों ने सहकार्य करने की अपील 

    बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में महाविकास आघाडी के पदाधिकारियों ने बताया कि बंद में शिवसेना, कांग्रेस, एनसीपी सहित महाविकास आघाडी के सभी घटल दल, सभी व्यापारी संगठन, सभी अंगिकृत संगठन, सामाजिक संगठनाएं हिस्सा लेकर बंद को सफल करेंगी। महाविकास आघाडी द्वारा लखीमपुर घटना के खिलाफ  सोमवार को महाराष्ट्र बंद रखने की गई अपील को शहर सहित जिले के सभी व्यापारियों ने सहकार्य करने की अपील शिवसेना, कांग्रेस, एनसीपी के नेताओं ने की। बंद सफल करने के लिए आयोजित बैठक में एनसीपी के शहराध्यक्ष विजय सालवे, कांग्रेस के जिला जिलाध्यक्ष किरण पाटिल डोणगांवकर, जिला महासचिव राहुल सावंत, शिवसेना शहर प्रमुख बालासाहाब थोरात, विजय वाघचौरे, विश्वनाथ स्वामी उपस्थित थे।