File Photo
File Photo

    औरंगाबाद : महानगरपालिका कमिश्नर का गत 2 साल 7 महीने से पदभार संभाल रहे आस्तिक कुमार पांडेय (Astik Kumar Pandey) का तबादला होने के चलते पांडेय ने नए महानगरपालिका कमिश्नर डॉ. अभिजीत चौधरी (Municipal Commissioner Dr. Abhijit Chaudhary) को पदभार सौंपा। डॉ. चौधरी ने महानगरपालिका कमिश्नर का पदभार संभालनेे के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए साफ किया कि वे जनता के बुनियादी प्रश्नों को ईमानदारी से हल करने का प्रयास करेंगे। साथ ही महानगरपालिका के माध्यम से शहरवासियों को बेहतर सुविधाएं मिले, इसको मेरी प्राथमिकता रहेगी। डॉ. चौधरी ने औरंगाबाद वासियों को विश्वास दिलाते हुए साफ कहा कि वे अपने कार्यकाल में शहर के विकास प्रारुप (डीपी प्लान) को पूरा करना, नौकर भरती करने के अलावा सरकार स्तर पर प्रयास कर पदोन्नति पर महानगरपालिका में अधिकारियों की नियुक्ति करने के लिए पूरजोर कोशिश करेंगे। 

    नए महानगरपालिका कमिश्नर डॉ. अभिजीत चौधरी और शहर के तत्कालीन कमिश्नर आस्तिक कुमार पांडेय महानगरपालिका पहुंचे। महानगरपालिका में कदम रखते ही डॉ. चौधरी ने महानगरपालिका मुख्यालय के हर विभाग का दौरा कर जानकारी ली। उसके बाद उन्होंने तत्कालीन कमिश्नर पांडेे से पदभार संभाला। पदभार संभालने के बाद डॉ. चौधरी ने कहा कि मेरे करीबी मित्र आस्तिक कुमार पांडेय ने अपने ढ़ाई साल के कार्यकाल में शहर के विकास में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए है। उन्होंने लिए बेहतर निर्णयों पर आगे भी काम किया जाएगा। 

    शहर में घूमकर समस्याओं को जानूंगा

    नए कमिश्नर डॉ. चौधरी ने कहा कि उन्होंने पदभार संभालते ही अपने मातहत काम करने वाले सभी विभाग प्रमुखों को उनके पास प्रलंबित कार्य और जरुरी सुविधाओं को लेकर एक प्रेझेंटेशने देने के निर्देश दिए है। उसके माध्यम से शहर के प्रश्नों को जानने के साथ ही मैं शहर के अलग-अलग इलाकों का दौरा कर वहां की समस्याओं को जानकर उन्हें हल करने को मेरी प्राथमिकता रहेगी। पांडेय के कार्यकाल में जो प्रोजेक्ट हाथ में लिए गए थे, और वर्तमान में जो अधुरे है, वह प्रोजेक्ट पूरा करना यह मेरा लक्ष्य रहेगा। 

    जनप्रतिनिधियों के सहयोग से किए जाएंगे हर कार्य 

    एक सवाल के जवाब में नवनियुक्त महानगरपालिका कमिश्नर ने कहा कि जो अधिकारी महानगरपालिका प्रशासन और जनता के हित में इमानदारी से कार्य करेंगा, उसको मेरा पूरा साथ रहेगा। बल्कि, जो अधिकारी और कर्मचारी काम में लापरवाही करेंगा, उसे बख्शा नहीं जाएगा। शहर के विकास के लिए सभी जन प्रतिनिधियों का सहयोग लेकर काम करने को मेरी प्राथमिकता रहेगी। शहर के विकास के लिए सरकार से निधि प्राप्त करने के लिए जन प्रतिनिधियों की सहयोग होना जरुरी है। महानगरपालिका कमिश्नर ने साफ किया कि राज्य सरकार द्वारा पदोन्नति पर आने वाले अधिकारियों के रिक्त पदों को भरने के लिए मैं प्रयास करुंगा। 

    नौकर भरती बहुत जटिल विषय है 

    शहर के तत्कालीन कमिश्नर आस्तिक कुमार पांडेय के कार्यकाल से प्रलंबित नौकर भरती मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए चौधरी ने माना कि नौकरी भरती बहुत जटिल विषय है। इसके बावजूद मैं अपने कार्यकाल में विकास प्रारुप और नौकर भरती की प्रक्रिया पूरा करने का प्रयास करुंगा। शहर के विकास के लिए सामाजिक संस्थाओं की भी मदद ली जाएगी।