BJP agitation in Aurangabad regarding OBC reservation

    औरंगाबाद. ओबीसी समाज (OBC Society) का राजनीतिक आरक्षण रद्द होने के निषेध में भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के औरंगाबाद (Aurangabad) ईकाई की ओर से शहराध्यक्ष संजय केणेकर (Sanjay Kenekar) और विधायक अतुल सावे (MLA Atul Save), प्रवीण घुगे, बसवराज मंगरुले के नेतृत्व में अमरप्रीत चौक में चक्काजाम आंदोलन किया गया। पुलिस ने आंदोलनकारियों को गिरफ्तार कर बाद में रिहा किया।

    सुबह करीब 11 बजे आंदोलन कारी अमरप्रीत चौक में जमा हुए। इस अवसर पर ओबीसी के सम्मान में, भाजपा मैदान में, सोनिया का तोता क्या कहता ? आरक्षण नहीं देने का बोलता है के नारे लगाए गए। आंदोलन कारियों ने राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार के खिलाफ भी जमकर नारेबाजी कर मुख्यमंत्री उध्दव  ठाकरे और सरकार के अन्य मंत्री को कोसा। जो ओबीसी के हित की बात करेंगा, वहीं महाराष्ट्र पर राज करेंगा, के नारे लगाकर काफी देर चक्काजाम आंदोलन किया गया। 

    पुलिस और आंदोलन कारी के बीच झड़प  

    आंदोलनकारी चक्काजाम करने पर पुलिस ने उन्हें कई बार समझाया। इसके बावजूद आंदोलन कारी चक्काजाम काफी देर तक करने के लिए अड़े हुए थे। इससे परेशान पुलिस ने आंदोलन कारियों पर बल का प्रयोग करना शुरु किया। पुलिस द्वारा बल का प्रयोग करने के बाद आंदोलन कारी नाराज होगए। इसी दरमियान पुलिस और आंदोलन कारियों के बीच जमकर झड़प हुई। उसके बाद पुलिस ने सभी आंदोलनकारियों को गिरफ्तार कर उन्हें क्रांति चौक थाना ले गए। वहां उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया। उसके  बाद आंदोलन कारियों को रिहा किया गया। पुलिस थाना में भी आंदोलन कारियों  ने राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

    इन लोगों ने आंदोलन में हिस्सा लिया

    आंदोलन में महिला मोर्चा प्रदेश महासचिव सविता कुलकर्णी, भाउराव देशमुख, महासचिव राजू शिंदे, समीर राजूरकर, शिवाजी दांडगे, राजेश मेहता,  ओबीसी मोर्चा के जिलाध्यक्ष गोविंद केन्द्रे, जालिंदर शेंडगे, डॉ. राम बुधवंत, पूर्व डिप्टी मेयर प्रमोद राठौड़, महिला मोर्चा की शहराध्यक्ष अमृता पालोदकर, मंडल अध्यक्ष सागर पाले, प्रविण कुलकर्णी, अजय शिंदे, संजय चौधरी, लक्ष्मीकांत थेटे, अरुण पालवे, हाफिज शेख, दीपक ढाकणे, अरविंद डोणगांवकर, विवेक  राठोड, दिव्या मराठे, शंकर म्हात्रे, मनोज भारस्कर, अशोक दामले, मनीषा मुंडे, बालाजी मुंंडे, नितिन चित्ते, सागर निलकंठ, कृणाल मराठे, विजय वडमारे, साधना सुरडकर, योगेश वाणी, पूजा सोनवने आदि ने हिस्सा लिया।