Shivsena responsible for privatizing departments in Manpa BJP leader attacked

    औरंगाबाद. जल्द ही औरंगाबाद महानगरपालिका चुनाव (Aurangabad Municipal Corporation Elections) होने के आसार है। इसी दरमियान शहर में जारी टीकाकरण मुहिम (Vaccination Campaign) में अपने-अपने मतदाताओं और कार्यकर्ताओं को टीका लगाने को लेकर सेना-भाजपा में होड लगी है। इसी होड में हाल ही में सेना-भाजपा पदाधिकारी आपस में भिड़े थे।

    इस घटना के कुछ समय बाद ही शहर के पूर्व डिप्टी मेयर और सेना नेता राजेन्द्र जंजाल ने महानगरपालिका के ठेका पध्दति पर नियुक्त मेडिकल ऑफिसर और भाजपा पदाधिकारी पर टीकाकरण के आड़ में पार्टी का प्रचार करने का आरोप लगाया। उन्होंने महानगरपालिका के राजनगर स्वास्थ्य केंद्र के मेडिकल ऑफिसर और गारखेडा मंडल के भाजपा उपाध्यक्ष डॉ. संजय गंडे पाटिल के सोशल मीडिया पर जारी एक पोस्ट का हवाला देते हुए बताया कि वे टीकाकरण मुहिम में भाजपा का प्रचार कर रहे है।

    राजेन्द्र जंजाल ने मीडिया को भेजे डॉ. पाटिल के पोस्ट पर नाराजगी जताते हुए कहा कि वे महानगरपालिका में मेडिकल ऑफिसर की सेवा देने के बावजूद टीकाकरण मुहिम के माध्यम से राजनीति कर रहे है। उधर, इस घटना पर महानगरपालिका के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. पारस मंडलेचा ने कहा कि डॉ. गोर्डे पाटिल की पोस्ट पर उनसे स्पष्टीकरण मांगा जाएगा। ड्यूटी टाईम के बाद ठेका पध्दति पर कार्यरत कर्मचारी किसी का भी प्रचार कर सकता है। परंतु, उसके लिए पद का इस्तेमाल नहीं करना होगा।

    गौरतलब है  कि गत सोमवार को टीकाकरण केंद्र पर टीका लेने के लिए वितरित होनेवाले कुपन को लेकर  शिवसेना-भाजपा में ठनी थी। भाजपा की पूर्व नगरसेविका विमल केन्द्रे के पति प्रा. गोविंद केन्द्रे ने शिवसेना नेता राजेन्द्र जंजाल व उनके कार्यकर्ताओं पर  पिटाई करने का आरोप लगाया था। इस मामले में पूर्व डिप्टी मेयर राजेन्द्र जंजाल सहित 7 से 8 लोगों पर मामला दर्ज किया गया था। उस घटना के चार दिन बाद ही राजेन्द्र जंजाल ने यह आरोप लगाया।