MLA SATISH CHAVAN

    औरंगाबाद. सारथी संस्था (Sarathi Sanstha) की ओर से एम.फिल (M.Phil) और पीएचडी (PhD) करने वाले छात्रों को शाहू महाराज राष्ट्रीय संशोधन अधिछात्रवृत्ति (Shahu Maharaj National Revision Scholarship) दी जाती। उसके लिए 1 जनवरी 2020 के बाद से 15 जुलाई 2021  तक पंजीकरण वाले पात्रता धारक छात्रों की ओर से ऑनलाईन आवेदन मांगे गए है। परंतु,  इसमें मामूली बदलाव कर  पंजीकरण समयावधि (Registration Time Period) 30 सितंबर तक करने की मांग मराठवाडा  स्नातक निर्वाचन क्षेत्र (Marathwada Graduate Constituency) के विधायक (MLA) सतीश चव्हाण (Satish Chavan) ने सारथी संस्था के व्यवस्थापकीय संचालक अशोक काकडे, संचालक मधुकर कोकाटे को एक  ज्ञापन भेजकर की। 

    ज्ञापन में विधायक चव्हाण ने बताया कि मराठा, कुणबी, कुणबी-मराठा, मराठा-कुणबी  प्रवर्ग के उच्च शिक्षा हासिल  करनेवाले मेहनती और  गुणवत्ताधारक एम.फिल और पीएचडी फेलोशिप करनेवाले छात्रों को छत्रपति शाहू महाराज संशोधन, प्रशिक्षण और मानव विकास संस्था ( सारथी)  की ओर से छत्रपति शाहू महाराज राष्ट्रीय संशोधन अधिछात्रवृत्ति शुरु की गई है। इस अधिछात्रवृत्ति के लिए सारथी की ओर से हाल ही में विज्ञापन प्रकाशित किया गया।  इसमें 1 जनवरी 2020 के बाद से 15 जुलाई 2021 तक पंजीकरण किए उम्मीदवारों से आवेदन मंगाए गए। 

    ऑन लाईन आवेदन के लिए 31 अगस्त तक समय सीमा दी गई है।  डॉ. बाबासाहाब आंबेडकर मराठवाडा विश्वविद्यालय की ओर से जनवरी/फरवरी 2021 में पेट परीक्षा ली गई। परंतु, संशोधन मान्यता समिति के लिए पात्र ठहरे छात्रों की पीएचडी पंजीकरण प्रवेश प्रक्रिया अब तक  पूरी नहीं हो पायी है। जिसके चलते बामू विश्वविद्यालय के छात्र  सारथी की ओर से दी जानेवाली छत्रपति शाहू महाराज राष्ट्रीय संशोधन अधिछात्र  वृत्ति से वंचित रहेंगे।  इस बात से विधायक चव्हाण ने ज्ञापन द्वारा सारथी के अधिकारियों को अवगत कराया। मराठवाडा के गुणवत्ता धारक छात्रों को लाभ मिले, इसलिए पीएचडी अधिछात्र वृत्ति के लिए पंजीकरण  की तारीख 15 जुलाई  के बजाए 30 सितंबर तक बढ़ाने की मांग विधायक चव्हाण ने ज्ञापन में की है।