Fake Covid Vaccination Camps : After Mumbai, ED will investigate fake covid vaccination camp in Kolkata
Representative Image

  • औरंगाबाद पुलिस ने की सावधान रहने की अपील

औरंगाबाद. इन दिनों पूरा विश्व कोविड-19 (COVID-19) के संकट से गुजर रहा है. इस महामारी से राहत पाने के लिए विश्वस्तर पर उसका टीका बनाने का काम जारी है. टीका बनाने को लेकर कई खबरें आ रही हैं।  

ऐसे में कोरोना टीका (Corona Vaccine) लगाने के लिए रजिस्ट्रेशन (Registration) करने के नाम पर साइबर अपराधियों (Cyber ​​Criminals) ने लोगों को फंसाने का सिलसिला शुरू किया है। ऐसे फर्जी कॉल्स (Fake Calls) से सावधान रहने की अपील औरंगाबाद पुलिस आयुक्तालय के साइबर अपराध शाखा पुलिस ने की है। 

साइबर अपराधी सक्रिय

औरंगाबाद क्राईम ब्रांच के एसीपी सुरेश वानखेडे ने बताया कि कोरोना टीका रजिस्ट्रेशन के नाम पर साइबर अपराधी फोन कर फेसबुक, वॉटसअप, इन्स्ट्राग्राम, ट्वीटर इस सोशल नेटवर्किंग के माध्यम से फर्जी टीके के बारे में जानकारी देकर आपको जल्द टीका मिलने का एहसास कराकर गुप्त जानकारी हासिल करते है। साइबर अपराधी आधार कार्ड, ई-मेल, आईटी और बैंक की संपूर्ण गुप्त जानकारी मांगकर आपको फंसा सकते।  जानकारी हासिल करने के  बाद बैंक से रकम निकालने के लिए आए ओटीपी मांगकर आपके बैंक अकाउंट से पैसे निकालकर फंसा सकते। ऐसे  फर्जी कॉल से सावधान रहने की अपील क्राईम ब्रांच के एसीपी सुरेश वानखेडे ने की है। अंत में उन्होंने बताया कि कोविड-19 टीकाकरण के रजिस्ट्रेशन के नाम पर कोई अज्ञात व्यक्ति ने फोन अथवा सोशल नेटवर्किंग के माध्यम से अपनी जानकारी मांगने पर अपनी गुप्त जानकारी ना दें।  जिसमें विशेषकर, आधार कार्ड, पैन कार्ड, बैंक अकाउंट डिटेल और ओटीपी नंबर ना दें. इस बारे में जागरुक रहकर ऐसे साइबर अपराधियों के झांसे में फंसाने से बचने की अपील एसीपी सुरेश वानखेडे ने की।