Aurangabad

    औरंगाबाद: महाराष्ट्र (Maharashtra) में राज्यसभा चुनाव (Rajya Sabha Elections) के 6 सीटों में से तीन सीटों पर बीजेपी (BJP) ने बाजी मारी। इसके खुशी में बीजेपी शहर कार्यकारिणी की ओर से उस्मानपुरा में स्थित बीजेपी के विभागीय कार्यालय के सामने जोरदार शहर अध्यक्ष संजय केणेकर के नेतृत्व में जोरदार जश्न मनाया गया। जश्न मनाते हुए बीजेपी की महिला कार्यकर्ताओं ने फुगडी खेलकर सभी लोगों का ध्यान आकर्षित किया।

    शनिवार की सुबह महाराष्ट्र के 6 राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव परिणाम घोषित हुए। इसमें शिवसेना के संजय पवार को हार का सामना करना पड़ा। बीजेपी ने 6 में से तीन सीटों पर बाजी मारकर महाराष्ट्र की राजनीति में अपना दबदबा बरकरार होने का दम दिखाया। इसकी खुशी में बीजेपी के शहर अध्यक्ष संजय केणेकर के नेतृत्व में बीजेपी पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने जोरदार जश्न मनाया।  कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी करते हुए ढोल ताशे बजाकर पटाखों की आतिषबाजी की। इस अवसर पर बीजेपी नेता बसवराज मंगरुले, प्रवीण घुगे, समीर राजूरकर, राज वानखेडे, राजेश मेहता, अनिल मकरिए, बापू घडामोडे, डॉ. राम बुधवंत, लता दलाल, रोहिनी खैरे, वंदना दहिवाल आदि पदाधिकारियों सहित सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित थे। 

    बच गए संजय राउत  

    जश्न मनाने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए बीजेपी शहर अध्यक्ष संजय केणेकर ने शिवसेना पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने राज्यसभा में अपना उम्मीदवार जिताने के लिए जिस पार्टी के नेता ने औरंगजेब की कब्र पर माथा टेका था, उसी एमआईएम के दो विधायकों की मदद ली। केणेकर ने कहा कि शिवसेना के दो उम्मीदवारों में से एक हार को सामना करना पड़ा।  शिवसेना नेता संजय राउत की हार निश्चित थी, लेकिन वह बच गए। 

    शिवसेना पर साधा जमकर निशाना

    उन्होंने औरंगाबाद के स्थानीय शिवसेना नेता चन्द्रकांत खैरे को आगाह करते हुए कहा कि आपने राज्यसभा के लिए एमआईएम की मदद ली। इसी मदद के बाद यह साफ है कि आगामी लोकसभा चुनाव में महाराष्ट्र महाविकास आघाड़ी द्वारा इम्तियाज जलील को उम्मीदवारी दी जा सकती। ऐसे में खैरे को अलर्ट रहने की जरुरत है। औरंगजेब की कब्र पर माथा टेकनेवालों के समक्ष शिवसेना ने लाचार होकर वोट मांगे। यह कहकर केणेकर ने शिवसेना पर जमकर निशाना साधा।