छत्रपति संभाजीनगर का नाम बदलने के समर्थन में MNS का ‘स्वप्नपूर्ति मोर्चा’, पुलिस ने दर्ज किया केस

Loading

छत्रपति संभाजीनगर : केंद्र सरकार (Central Government) द्वारा औरंगाबाद (Aurangabad) का नामांतर छत्रपति संभाजीनगर (Chhatrapati Sambhajinagar) करने को लेकर इन दिनों राजनीति (Politics) गरमाई हुई है। एक तरफ एमआईएम के सांसद इम्तियाज जलील द्वारा नामांतर के खिलाफ जिला अधिकारी कार्यालय के सामने गत 13 दिनों से क्रमिक अनशन जारी है। वहींं, दूसरी तरफ गुरुवार को मनसे (MNS) द्वारा नामांतर के समर्थन में राजा बाजार से विभागीय आयुक्त कार्यालय पर स्वप्नपूर्ति मोर्चा (Swapnapurti Morcha) का आयोजन किया गया था। पुलिस ने मोर्चा के आयोजकों को तत्काल धर दबोचा, जिसके चलते वहां जमें सैकड़ों कार्यकर्ता तितर बितर हुए। पुलिस ने बिना परमिशन मोर्चा निकालने को लेकर मनसे के 100 से 150 पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज (Case Registered) किया है। 

मनसे जिला अध्यक्ष  सुमित खांबेकर और सतनाम गुलाटी के नेतृत्व में गुरुवार की सुबह राजा बाजार में स्थित श्री संस्थान गणपति से विभागीय आयुक्त कार्यालय पर औरंगाबाद का नामांतर छत्रपति संभाजीनगर करने के समर्थन में स्वप्नपूर्ति मोर्चा का आयोजन किया गया था। मोर्चा के लिए मनसे के पदाधिकारी और कार्यकर्ता बड़ी संख्या में जमा हुए थे। मोर्चा के लिए बड़ी संख्या में महिला भी शामिल थी। इधर, पुलिस ने जिला अध्यक्ष  सुमित खांबेकर को मोर्चा न निकालने के लिए नोटिस देकर चेताया था।  इसके बावजूद मनसे पदाधिकारी और कार्यकर्ता मोर्चा निकालने के लिए अड़े रहे। जिसके बाद पुलिस ने मोर्चा के आयोजकों के साथ सख्ती बरतते हुए उन्हें धर दबोच कर सिटी चौक पुलिस स्टेशन ले गए।

कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज

सिटी चौक पुलिस स्टेशन के पीआई अशोक गिरी ने बताया कि फौजदार प्रक्रिया संहिता की धारा 149 के अनुसार दी गई नोटिस के तहत मनसे पदाधिकारियों को मोर्चा निकालने की परमिशन नहीं दी गई थी। उधर, मोर्चा के लिए जालना से भी बड़ी संख्या में मनसे कार्यकर्ता शहर में पहुंचे थे। पुलिस ने मोर्चा को रोकते ही पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने कई नारे लगाए। जिसके चलते राजा बाजार परिसर में कुछ समय के लिए तनाव की स्थिति बनी थी। परंतु पुलिस ने पदाधिकारियों को अपने कब्जे में लेते ही कार्यकर्ता तितर बितर हुए। जिसके चलते मनसे का मोर्चा विभागीय आयुक्त कार्यालय नहीं पहुंच पाया। उधर पुलिस ने बिना परमिशन मोर्चा निकालने को लेकर सिटी चौक पुलिस स्टेशन में मनसे के 100 से 150 कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। जिसमें प्रमुख रुप से जिला अध्यक्ष सुमित खांबेकर, सतनाम गुलाटी सहित अन्य पदाधिकारी शामिल है।