bjp shivsena

    औरंगाबाद. शहर के गारखेडा परिसर के कोरोना टीकाकरण केंद्र पर अपने ही कार्यकर्ताओं को टीके लगाए जाने के आरोप-प्रत्यारोप को लेकर शिवसेना (Shiv Sena) और भाजपा पदाधिकारी (BJP Officials) आपस में भिड़े(Clashed)। इस विवाद के बाद भाजपा ने राज्य के फलोत्पादन मंत्री संदिपान भुमरे के कार्यालय में भाजपा के ओबीसी मोर्चा के शहराध्यक्ष गोविंद केन्द्रे  पर शहर के पूर्व डिप्टी मेयर राजेन्द्र जंजाल और अन्य शिवसैनिकों ने जानलेवा हमला करने का आरोप लगाया। इधर, देर शाम राजेन्द्र जंजाल ने सोशल मीडिया पर संदिपान भुमरे के कार्यालय के सीसीटीवी  फुटेज जारी कर भाजपा पदाधिकारी केंद्रों  पर वहां किसी तरह की हमला न करने का स्पष्टीकरण दिया। जंजाल द्वारा पेश किए सीसीटीवी फुटेज से भाजपा के आरोपों की हवा निकली है।

    मिली जानकारी के अनुसार गारखेडा के टीकाकरण केंद्र पर भाजपा पदाधिकाी गोविंद केन्द्रे व सेना के पूर्व डिप्टी मेयर राजेन्द्र जंजाल के बीच लोगों को टीका लगाने को लेकर विवाद हुआ। उसके बाद जंजाल ने अपने वाहन में भाजपा पदाधिकारी गोविंद केन्द्रे को बिठाकर राज्य के फलोत्पादन मंत्री  संदिपान भुमरे के कार्यालय ले गए। वहां उनकी जमकर पिटाई करने का आरोप भाजपाईयों ने लगाया। इन आरोपों को राजेन्द्र जंजाल ने सीरे से खारिज करते हुए कहा कि गारखेडा में स्थित राज्य के मंत्री संदिपान भुमरे के कार्यालय में चाय पीने के लिए मैं और गोविंद केन्द्रे व अन्य कार्यकर्ता पहुंचे थे। इस अवसर पर केन्द्रे और कुछ कार्यकर्ताओं के बीच विवाद हुआ। उसके बाद एक कार्यकर्ता ने केन्द्रे को पिटा जिससे वे निचे गिरे। इस घटना में वे घायल हुए। वहां उपस्थित पूर्व डिप्टी मेयर जंजाल ने तत्काल केन्द्रे को इलाज के लिए निजी अस्पताल सिग्मा में भर्ती कराया।

    भाजपाईयों ने दिया पुलिस थाना के समक्ष धरना

    इस घटना के बाद भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता बड़ी संख्या में परिसर के जवाहर नगर थाना के सामने जमा हुए। उन्होंने गोविंद केन्द्रे की पिटाई करने के मामले में राजेन्द्र जंजाल और अन्य शिवसैनिकों पर मामला दर्ज कर उन्हें तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की। जिससे जवाहर नगर थाने के समक्ष काफी देर तनाव पैदा हुआ था। इधर, पूर्व डिप्टी मेयर राजेन्द्र जंजाल ने पत्रकारों को बताया कि टीकाकरण केन्द्र से केन्द्रे और अन्य लोग चाय पीने के लिए सुतगिरणी चौक पहुंचे  थे। वहां कुछ कार्यकर्ता और  केन्द्रे के बीच विवाद हुआ। केन्द्रे को एक ने पिटा। जिससे वे निचे गिरे। उसके बाद मैंने उन्हें सिग्मा अस्पताल में भर्ती कराया।

    जंजाल ने सोशल मीडिया पर जारी किए सीसीटीवी फुटेज

    उधर, देर शाम जंजाल ने राज्य के फलोत्पादन मंत्री संदिपान भुमरे के गारखेडा परिसर में स्थित कार्यालय के सीसीटीवी फुटेज जारी किए। उन फुटेजों के बाद भाजपा के आरोप पर कई सवाल उठने लगे। गौरतलब है  कि जल्द ही औरंगाबाद महानगरपालिका चुनाव होने के आसार है। महानगरपालिका चुनाव को लेकर सभी दलों के नेता अपने-अपने वार्ड में अपना वर्चस्व दिखाने के होड में है। कोरोना टीके लगाने को लेकर इन दिनों सेना-भाजपा से महानगरपालिका चुनाव लड़ने वालों में होड लगायी हुई है। इसी होड में आज की घटना होने की चर्चा सेना-भाजपा कार्यकर्ताओं में जारी है।