State government should reduce the price of petrol and diesel, BJP demanded

    औरंगाबाद : केंद्र सरकार (Central Government) ने दीपावली (Diwali) के पूर्व संध्या पर पेट्रोल की एक्साईज कर (Excise Tax) में 5 रुपए प्रति लीटर और डीजल पर एक्साईज कर में  10 रुपए प्रति लीटर कटौती  कर आम नागरिकों को राहत दी है। केंद्र सरकार (Central Government) के एक्साईज कर में कटौती करने के बाद कुल करों के परिणाम पर ध्यान देने पर महाराष्ट्र में प्रत्यक्ष पेट्रोल 6 रुपए और डीजल 12 रुपए सस्ता हुआ है। जिस तरह केंद्र की मोदी सरकार ने ईंधनों के दाम में कटौती कर आम नागरिकों को राहत दी है,  उसी तरह महाराष्ट्र सरकार भी ईंधन के करों की राशि में कटौती कर राहत देने की मांग भाजपा के स्थानीय पदाधिकारियों ने विधायक अतुल सावे, शहराध्यक्ष संजय केणेकर के नेतृत्व में कलेक्टर  से मुलाकात कर एक ज्ञापन सौंपकर की। 

    ज्ञापन में भाजपाईयों ने बताया कि महाविकास आघाडी के सभी घटक दल बीते कई माह से ईंधन के दाम कम करने को लेकर आंदोलन कर रहे थे। अब मोदी सरकार ने ईंधन के दाम कम कर नागरिकों को बड़े पैमाने पर राहत दी है। केंद्र सरकार के बाद राज्य की महाविकास आघाडी सरकार ने भी तत्काल इंधन के दामों पर लगनेवाली करों की राशि में कटौती कर आम नागरिकों को राहत देने की मांग भाजपा पदाधिकारियों ने कलेक्टर के नाम  सौंपे ज्ञापन में की। ज्ञापन में राज्य सरकार द्वारा ईंधन के दामों पर लगनेवाले करों की राशि में कटौती करने के लिए टालमटोल की नीति अपनाने का आरोप भाजपा ने लगाया।

    जिस तरह भाजपा शासित प्रदेश गुजरात, मध्यप्रदेश, गोवा, कर्नाटक सरकार ने तत्काल इंधन के दामों में राज्यस्तर पर कटौती की, उसी तरह का निर्णय महाराष्ट्र सरकार तत्काल लेने की मांग भाजपा पदाधिकारियों  ने कलेक्टर से की। ज्ञापन देते समय विधायक अतुल सावे, शहराध्यक्ष संजय केणेकर के अलावा महासचिव राजू शिंदे, राजेश मेहता, शिवाजी दांडगे, जालिंदर शेंडगे, मनीषा भंसाली, ताराचंद गायकवाड़, अमृता पालोदकर, मनीषा मुंडे, सागर पाले, हाफिज शेख, गोकुल मलके, हाजी दौलत खान पठाण, शाकेर राजा, अशोक जगधने, छायाताई खाजेकर आदि पदाधिकारी उपस्थित थे।