State government will have to bear the brunt of not taking immediate decision on the demands of ST workers: MNS
File Photo

    औरंगाबाद : एसटी कामगारों (ST Workers) को राज्य सरकार (State Government) की सेवा में शामिल करने की मांग को लेकर मनसे (MNS) के औरंगाबाद जिला (Aurangabad District) ईकाई की ओर से पार्टी के जिलाध्यक्ष सुहास दाशरथे और शहराध्यक्ष सतनामसिंह गुलाटी के नेतृत्व में गुरुवार को जिलाधिकारी कार्यालय के सामने  जोरदार प्रदर्शन करते हुए आंदोलन किया गया। आंदोलन के दरमियान मनसे पदाधिकारियों ने सरकार को चेताया कि वे इस मांग पर तत्काल निर्णय ले, वरना एसटी कामगारों का आंदोलन और तेज होगा। जिसका खामियाजा राज्य सरकार को भुगतना पड़ेगा।

    मनसे के जिलाध्यक्ष सुहास दाशरथे ने बताया कि बीते कुछ दिनों से एसटी कामगारों की  राज्यस्तरीय हड़ताल जारी है। एसटी महामंडल का राज्य सरकार में विलयन करने की मांग को लेकर एसटी कामगार हड़ताल पर है। जिससे एसटी महामंडल द्वारा राज्य भर चलाए जानेवाली एसटी बसों की यातायात पूरी तरह ठप है।

    एसटी कामगारों की जारी हड़ताल से राज्य के लोग परेशान है

    दीपावली त्यौहार के दरमियान एसटी कामगारों की जारी हड़ताल से राज्य के लोग परेशान है। दाशरथे ने बताया कि इसी दरमियान मनसे प्रमुख राज ठाकरे के दिए हुए आदेश पर संपूर्ण महाराष्ट्र में मनसे के पदाधिकारी हर जिले में एसटी महामंडल के आगार को भेंट देकर राज ठाकरे के समर्थन वाला पत्र कामगार संगठन को सौंप रहे है। उन कामगारों को मनसे पदाधिकारी यह एहसास करा  रहे है कि हम आपके साथ है। जब तक राज्य सरकार एसटी महामंडल के कामगारों की मांग को पूरा नहीं करेगी, तब तक हड़ताल को मनसे का समर्थन रहेगा।

    एसटी कामगारों का आंदोलन और अधिक तेज होगा

    दाशरथे ने बताया कि  हमने जिलाधिकारी कार्यालय के सामने आंदोलन कर जिला प्रशासन के माध्यम से राज्य सरकार को चेताया कि वह तत्काल कामगारों के हित में निर्णय ले, वरना एसटी कामगारों का आंदोलन और अधिक तेज होगा। जिसका खामियाजा राज्य सरकार को भुगतना पड़ेगा। आंदोलन में मनसे के परिवहन सेना के मराठवाड़ा अध्यक्ष अशोक पवार, जिलाध्यक्ष उमेश दीक्षित, संदिप कुलकर्णी, विशाल विराले, गणेश सांलुके, चंदु नवपुते,संतोष पवार, बाबूराव जाधव, राजू चव्हाण, निरज बरेजा, कृष्णा घयाट, युवराज गवई, आकाश गोंडे, श्रीराम तेलंग, सुरेश जाधव आदि ने हिस्सा लिया।