औरंगाबाद में नुपुर शर्मा के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन, हालात बिगड़ने से बचे

    औरंगाबाद : प्रेषित पैगंबर हजरत मोहम्मद (Hazrat Mohammad) के खिलाफ बीजेपी (BJP) के पूर्व प्रवक्ता नुपुर शर्मा (Nupur Sharma) और नवीन जिंदल (Naveen Jindal) द्वारा दिए गए विवादित बयान (Controversial Statement) से मुस्लिम समुदाय में गुस्सा उमड़ा है। विभागीय आयुक्तालय के सामने हजारों मुस्लिम समुदाय (Muslim Community) ने नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान हालत बिगड़ने पूरे आसार बन चुके थे। लेकिन, शहर के सांसद इम्तियाज जलील और सीपी डॉ. निखिल गुप्ता ने लोगों से शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन करने की अपील के बाद लोगों ने करीब दो घंटे जोरदार प्रदर्शन किया और अपने घर लौटे। 

    बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल द्वारा प्रेषित पैंगबर हजरत मोहम्मद के खिलाफ एक टीवी डिबेट में विवादित बयान दिया था। नुपुर के इस बयान को लेकर मुस्लिम समुदाय में गुस्सा उमड़ा हुआ है। एमआईएम की ओर से विभागीय आयुक्त कार्यालय के सामने नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर प्रदर्शन का आयोजन किया गया था। 

    प्रदर्शन के लिए हजारों की संख्या में पहुंचे लोग 

    दोपहर की नमाज के बाद हजारों की संख्या में लोग विभागीय आयुक्तालय के सामने जमा हुए। प्रदर्शन कारियों ने नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल और बीजेपी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कुछ युवक जोश में आकर हंगामा कर रहे थे। आंदोलन के दरमियान हालत बिगड़ने के आसार थे। उसी समय वहां शहर के  सांसद इम्तियाज जलील और सीपी डॉ. निखिल गुप्ता पहुंचे। उन दोनों ने प्रदर्शन कारियों से अपील करते हुए कहा कि वे शांतिपूर्ण तरीके से आंदोलन करें।  कुछ उपद्रवी जोरदार हंगामा कर माहौल बिगड़ने के फिराग में थे। आंदोलन कारियों ने नुपुर शर्मा का पुतला भी जलाया। युवकों ने जमकर नारेबाजी कर नुपुर शर्मा और जिंदल को गिरफ्तार करने की मांग की। युवकों द्वारा किए जा रहे हंगामे हालत तनावपूर्ण बन रहे थे। परंतु, जिले के सांसद इम्तियाज जलील और  सीपी डॉ. निखिल गुप्ता ने लोगों से लाउडस्पीकर के माध्यम से बार-बार शांति पूर्ण तरीके से प्रदर्शन करने की अपील की। सीपी डॉ. गुप्ता ने सांसद जलील को कुछ कान मंत्र देकर लोगों से अपील करने के लिए भेजा। उसका असर यह हुआ कि जो युवक प्रदर्शन के दरमियान हंगामा कर रहे थे, वे कुछ समय बाद शांत होकर घर लौट गए। जिससे प्रदर्शन शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हुआ। उधर, प्रदर्शन को लेकर विभागीय आयुक्त कार्यालय के सामने कड़ा पुलिस बंदोबस्त तैनात किया गया था। 

    शांति से करें आंदोलन 

    गुस्साएं लोगों को शांति बनाए रखने की अपील सांसद इम्तियाज जलील ने प्रदर्शन का नेतृत्व करते हुए की। उन्होंने कहा कि आंदोलन करना हम सबका हक है। लेकिन, आंदोलन शांतिपूर्ण तरीके से होना चाहिए। उन्होंने नुपुर शर्मा को पार्टी से निलंबित की गई कार्रवाई को एक दिखावा करार करते हुए कहा कि उन पर कानूनी कार्रवाई कर गिरफ्तार करने की मांग की। जलील ने कहा कि पिछले कुछ सालों से देश में धर्म के नाम पर टिका टिप्पणी करने वालों का प्रमाण बड़ा है। इस पर रोक लगाने के लिए केंद्र सरकार ने विशेष कानून बनाने की मांग भी जलील ने की। उन्होंने केंद्र सरकार से मांग की कि वे नुपुर शर्मा और  नवीन जिंदल जैसे लोगों पर तत्काल कानूनी कार्रवाई कर उन्हें गिरफ्तार करें। 

    मुस्लिम इलाकों में भारत बंद को लेकर जोरदार समर्थन 

    इधर, मुस्लिम समुदाय द्वारा नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल पर कानूनी कार्रवाई करने की मांग को लेकर भारत बंद का ऐलान किया गया था। जिसे जोरदार समर्थन मिला। सोशल मीडिया पर गत दो दिन से 10 जून को भारत बंद का ऐलान किया गया था। जिसका असर शहर के मुस्लिम बहुल इलाके में बड़े पैमाने पर देखा गया। शहर के रोशन गेट, किराडपुरा, जिन्सी, चंपा चौक, कटकट गेट, शहाबाजार, शहागंज, बुढढी लाईन परिसर के व्यापार पेठों में सन्नाटा छाया हुआ था।