MP Bhagwat Karad

    औरंगाबाद. बीते तीन सप्ताह से औरंगाबाद (Aurangabad) सहित मराठवाडा (Marathwada) के सभी जिलों में कई बार भारी बारिश (Heavy Rain) से किसानों (Farmers) की फसलें पूरी तरह तबाह हुई है। भारी बारिश से ग्रामीण क्षेत्रों में आज भी बहुत बुरे हालत है। सड़कें धंसी है, पुल बह गए हैं, नदी के बांध और राहगीर झील बह गए हैं। खेती में बड़े पैमाने पानी जमा होने से वह खराब हो गई हैं। भारी बारिश में सबसे अधिक नुकसान किसानों का हुआ है। राज्य सरकार पश्चिम महाराष्ट्र के तर्ज पर मराठवाडा के किसानों को तत्काल विशेष पैकेज घोषित करने की मांग केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री डॉ. भागवत कराड (Dr. Bhagwat Karad) ने आयोजित प्रेस वार्ता में की।

    भारी बारिश से हुए नुकसान का जायजा लेने बुधवार की सुबह केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री डॉ. भागवत कराड ने कलेक्टर सुनील चव्हाण के अलावा संबंधित विभाग के  आला अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक के बाद डॉ. कराड ने अतिवृष्टि से किसानों और ग्रामवासियों के समक्ष निर्माण हुई परेशानियों और नुकसान पर प्रेस वार्ता में  विस्तृत प्रकाश डाला। उन्होंने किसानों को राहत पहुंचाने के लिए तत्काल प्रति हेक्टेयर 50 हजार की मदद देने की मांग भी ठाकरे सरकार से की। डॉ. कराड ने बताया कि औरंगाबाद जिले के सभी 65 मंडलों में अतिवृष्टि होकर 17 लोगों ने अपनी जान गंवाई है। हजारों घरों में पानी भर गया। सैकडों लोगों को स्थानांतरित किया गया। 

    रबी फसल के लिए तत्काल मदद करें सरकार 

    किसान जल्द रबी फसलों की बुआई करेगा। ऐसे में राज्य सरकार तत्काल किसानों को राहत प्रदान करें। ताकि, वे रबी फसल के उत्पादन की तैयारी कर सकें। एक सवाल के जवाब में केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री ने बताया कि मराठवाडा में अतिवृष्टि से गहरा संकट निर्माण हुआ है। नदी के किनारे स्थित डीपी में पानी ने प्रवेश करने से औरंगाबाद के 25 से 30 गांव आज भी अंधेरा छाया हुआ है। पीने के पानी की 827 योजनाएं में 34 डैमेज हुई है। आस-पास के कई गांवों के नागरिकों पीने के लिए पानी नहीं मिल रहा है। ऐसे में किसानों सहित गांववासियों को बड़े पैमाने की मदद की जरुरत है। मराठवाडा के किसानों और ग्रामवासियों के परेशानियों को जानकर राज्य सरकार तत्काल एक विशेष पैकेज घोषित करने की मांग केन्द्रीय वित्त मंत्री डॉ. कराड ने की। मराठवाडा के लिए राज्य सरकार जल्द मदद करें, इसको लेकर मैं जल्द ही सीएम ठाकरे से मिलने की जानकारी भी डॉ. कराड ने दी।

    केन्द्र से मदद का दिया आश्वासन 

    राज्य सरकार नुकसान की रिपोर्ट जल्द तैयार कर केन्द्र को भेजे। राज्य सरकार की रिपोर्ट पर ही केन्द्रीय आपदा समिति के अधिकारी जायजा लेने मराठवाडा पहुंचेंगे। उन्होंने किसानों को आश्वस्त करते हुए कहा कि वे केन्द्रीय वित्त राज्यमंत्री के नाते केन्द्र सरकार से मदद दिलाने के लिए विशेष प्रयास करेंगे। डॉ. कराड ने बताया कि राज्य सरकार ने फसल बीमा कंपनियों को उनके हिस्से की राशि नहीं दी है। बीमा कंपनियों खुद यह आरोप लगा रही है। राज्य सरकार ने बीमा कंपनियों को मदद करने पर केन्द्र का वित्त मंत्रालय भी तत्काल बीमा कंपनियों को केन्द्र की मदद की राशि अदा करेगा। यह आश्वासन डॉ. कराड ने दिया। प्रेस वार्ता में विधायक अतुल सावे, भाजपा जिलाध्यक्ष विजय औताडे उपस्थित थे।