The condition of the road leading to the tomb is poor - Congress demands to register a case against

    औरंगाबाद. एक तरफ केंद्र सरकार (Central Government) की स्मार्ट सिटी परियोजना (Smart City Project) के माध्यम से शहर को स्मार्ट बनाने का ढिंढोरा महानगरपालिका प्रशासन (Municipal Administration) द्वारा पीटा जा रहा है। वहीं, दूसरी तरफ मिनी ताजमहल के रुप में पूरे विश्व में मशहूर बिबी का मकबरा की ओर जानेवाले टाउन हॉल से मकई गेट सड़क की हालत काफी खस्ता हो चुकी है।

    इस सड़क के निर्माण के लिए कांग्रेस द्वारा कई बार महानगरपालिका प्रशासन को ज्ञापन देकर तत्काल सड़क की मरम्मत करने की मांग की गई थी। इस मांग पर आज तक किसी प्रकार की पहल न करने से गुस्साएं कांग्रेस के इंटक विभाग की ओर से पार्टी के शहराध्यक्ष हिशाम उस्मानी, इंटक के उपाध्यक्ष एड. इकबाल सिंह गिल के नेतृत्व में आंदोलन कर सड़क की खस्ताहाल के लिए महानगरपालिका आयुक्त (Municipal Commissioner) आस्तिक कुमार पांडेय (Aastik Kumar Pandey) पर मामला दर्ज करने की मांग शहर के सीपी डॉ. निखिल गुप्ता (CP Dr. Nikhil Gupta) से मुलाकात कर एक ज्ञापन देकर की।

    ज्ञापन में कांग्रेसियों ने बताया कि हमने कई बार ऐतिहासिक धरोहर बीबी का मकबरा  की ओर जानेवाले टाउन हॉल से मकई गेट सड़क की मरम्मत करने की मांग की। इस सड़क की हालत दयनीय होने से वाहन धारक को कई तकलीफों का सामना कर वहां से गुजरना पड़ता हैं। आए दिन इस सड़क पर दुर्घटनाओं का सिलसिला जारी है। परिसर में रहनेवाले नागरिक महानगरपालिका के इस दर्द से परेशान है। कांग्रेसियों ने गुरुवार को इस सड़क पर आंदोलन कर महानगरपालिका प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

    कांग्रेसियों ने इस सड़क की हालत मृत अवस्था में होने के कारण आंदोलन के दरमियान एक शोकसभा का आयोजन कर प्रशासन को कोसा। इस अवसर पर अरुण सिरसाठ, गुरमितसिंह गील, संजय वाघमारे, इरफान खान, एमए अजहर, सैय्यद यूनुस, सुभाष देवकर, जहिर मौलाना, मोहसीन अहमद, अमीन पठाण, मोहम्मद अश्फाक, फैसल कुरैशी, मुदस्सीर अन्सारी, इरफान खान, फेरोज पटेल, मोहसीन शेख, सिध्दांत गायकवाड, विशाल निकालजे, रहमान चाउस, मुन्ना जहांगिरदार, एसटी पाखरे, गौतम निकालजे, आसाराम कणसे आदि उपस्थित थे।