Aurangabad municipal commissioner Astik Kumar Pandey

    औरंगाबाद. विश्व में मशहुर पनचक्की (Famous Water Mill) के निकट स्थित ऐतिहासिक मेहमूद दरवाजा (Mehmood Darwaza) की हालत काफी क्षतिग्रस्त (Damaged) और दयनीय (Pathetic) हो चुकी है। दरवाजे के दूबारा नए से निर्माण के लिए माहनगरपालिका कमिश्नर आस्तिक कुमार पांडेय ने  महानगरपालिका अधिकारियों के साथ परिसर का दौरा कर जानकारी ली। उसके बाद उन्होंने दरवाजे के निकट फैले अतिक्रमण तत्काल हटाने के आदेश संबंधित अधिकारियों को दिए। वर्तमान में इस दरवाजे के बीच से यातायात पूरी तरह बंद कर दी गई है। इसके बावजूद परिसर के नागरिक दरवाजे के बाजू से अपनी जान जोखिम में डालकर गुजरने के कारण दुर्घटना होने के आसार है। उसको लेकर  प्रशासक पांडेय ने अधिकारियों को कुछ सूचनाएं की। 

    गौरतलब है कि बीते कई सालों से अपनी दुर्देशा पर आंसू बहा रहा ऐतिहासिक मेहमूद दरवाजे को पूरी तरह नष्ट कर नए सिरे से उसका निर्माण करने का निर्णय महानगरपालिका प्रशासन ने लिया है। औरंगाबाद स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन के निधि से इस ऐतिहासिक दरवाजे का काम किया जाएगा। हाल ही में इस दरवाजे का स्ट्रक्चल ऑडिट  पूरा हुआ है। उसके बाद बुरी तरह क्षतिग्रस्त हुआ मेहमूद दरवाजे को नष्ट कर नए से निर्माण करने का निर्णय लिया गया। मेहमूद दरवाजे का काम पूरा होने में कई माह का समय लगेगा। इसलिए परिसर के नागरिकों ने इस मार्ग से न जाने की अपील प्रशासक पांडेय ने औरंगाबाद वासियों से की। उन्होंने अधिकारियों को दरवाजे के निकट स्थित अतिक्रमण तत्काल हटाने के आदेश दिए।  

    पनचक्की का किया दौरा 

    इसी दरमियान आयुक्त पांडेय ने पनचक्की का दौरा कर पनचक्की के बगल में स्थित जमीन विकसित करने के बारे में शहर अभियंता को निर्देश दिए। उसके बाद पांडेय  ने निकट के ज्यूबली पार्क का दौरा कर वहां स्थित चौराहे में निर्माण गड्डे पर तत्काल पैचवर्क करने के निर्देश दिए। इस दौरे के दरमियान उन्हें कुछ इलाकों में सड़को के किनारे कचरा नजर आने पर आयुक्त काफी नाराज हो गए।  उन्होंने परिसर के सफाई निरीक्षक को खूब खरी खोटी सुनाकर सड़क पर पड़े कचरे के बारे में सख्त ताकिद  दी।  इस अवसर पर शहर अभियंता सखाराम पानझडे, कार्यकारी अभियंता भागवत फड, स्मार्ट सिटी की स्नेहा बक्षी, अर्पिता शरद उपस्थित थी।