वार्डों के प्रारुप और बाउंड्री के मसौदो के आक्षेपों  पर कल होगी सुनवाई

    औरंगाबाद: औरंगाबाद महानगरपालिका चुनाव विभाग द्वारा तैयार किए हुए  वार्डों के प्रारुप और बाउंड्री के मसौदे को राज्य चुनाव आयोग (State Election Commission) के पास पेश किया गया था। चुनाव आयोग ने उस पर अभ्यास कर उसे मान्यता दी। उसके बाद प्रारुप और बाउंड्री का मसौदा आयोग ने जारी करने के आदेश औरंगाबाद महानगरपालिका (Aurangabad Municipal Corporation) प्रशासन को दिए थे। उसके अनुसार महानगरपालिका ने 2 जून 2022 को प्रारुप और मैप (Map) प्रकाशित कर नागरिकों पर उस पर आक्षेप दाखिल करने के लिए 16 जून तक का समय दिया था। शहर के नागरिकों ने वार्डों के प्रारुप और बाउंड्री के मसौदे पर 374 आपत्तियां दर्ज की है। उस पर 22 जून की सुबह 10 बजे से  शहर के मौलाना आजाद रिसर्च सेंटर में सुनवाई शुरु होगी।

    महानगरपालिका सूत्रों ने बताया कि सुनवाई के लिए चार स्लॉट तैयार किए गए है। जिन आक्षपों पर अधिक समय तक सुनवाई चलेगी, उन 22 आक्षेपों पर शाम 4 बजे के बाद राज्य चुनाव आयोग सुनवाई लेगा। सुनवाई के लिए महानगरपालिका प्रशासन द्वारा तैयार किए गए नियोजन के बारे में महानगरपालिका के उपायुक्त और चुनाव विभाग के प्रमुख डॉ. संतोष टेंगले ने बताया कि चार स्लॉट में सुनवाई ली जाएगी। टोकन क्रमांक 1 से 10 की सुनवाई सुबह साढ़े ग्यारह से शाम 4  बजे के दरमियान ली जाएगी। टोकन क्रमांक 67 से 71 तथा 72 से 80 टोकन क्रमांक  की सुनवाई सुबह साढ़े दस से साढ़े ग्यारह के बीच होगी। टोकन क्रमांक 81 से 84 की सुनवाई शाम चार बजे के बाद होगी। 

    गौरतलब है कि आक्षेपों पर सुनवाई के लिए राज्य चुनाव आयोग की ओर से पुणे के पंजीकरण महानिरीक्षक श्रावण हर्डिकर  औरंगाबाद पहुंचेगे।  बता दें कि राज्य चुनाव आयोग के आदेश पर औरंगाबाद महानगरपालिका ने वार्डों के प्रारुप और बाउंड्री का  मसौदा तैयार किया। 126 वार्डों के लिए 42 प्रभाग तैयार किए गए। एक प्रभाग में तीन वार्ड शामिल किए गए है। तैयार किया गया प्रारुप और प्रभाग के क्षेत्र  का मैप आयोग के आदेश पर 2 जून को जारी किया गया था। 16 जून तक उस पर आक्षेप मंगाए गए थे। एक पखवाड़े में 374 सूचना और आक्षेप दाखिल हुए है।