कांग्रेस को मिल गया तुमसर के लिए विधायक पद का सक्षम दावेदार!, पं.स. व जिप चुनाव में हुए घटना क्रम से गरमाया चर्चाओं का माहौल

    तुमसर. क्षेत्र के पूर्व विधायक चरण वाघमारे की विकास फाउंडेशन द्वारा पं.स. एवं जिप चुनाव में भाजपा की ओर अनदेखी कर कांग्रेस का सहयोग किए जाने से भविष्य में उनके कांग्रेस में प्रवेश करने के आसार दिखाई दे रहे हैं यदि ऐसा होता है तो तुमसर-मोहाडी क्षेत्र में कांग्रेस को विधायक का एक दमदार प्रत्याशी प्राप्त हो जाएगा. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले के साथ पूर्व विधायक वाघमारे द्वारा हाथ मिलाकर अपने परस्पर विरोधी राकांपा को सत्ता से दूर रखने में सफलता हासिल की गई है.

    भाजपा से वाघमारे का हो सकता है निलंबन 

    पं.स.के सभापति व उपसभापति पद के चुनाव के बाद जिप के अध्यक्ष व उपाध्यक्ष चुनाव में पूर्व विधायक वाघमारे द्वारा भाजपा के चुनाव चिन्ह पर चुनकर आए विकास फाउंडेशन के समर्थित सदस्यों को भाजपा प्रत्याशी के विरोध में मतदान करने हेतू प्रोत्साहित किये जाने से उनका भाजपा से निलंबन होना लगभग तय माना जा रहा है. इसके पूर्व 2।। वर्ष पूर्व हुए विधानसभा चुनाव के बाद भी उन्हें निलंबित किया गया था.

    राजनीति का केंद्र बिंदु रहा तुमसर

    जिले में महाविकास आघाडी पूरी तरह से तिघाड़ी बन चुकी है. यहां चरण वाघमारे की विकास फाउंडेशन के कारण तुमसर पंस एवं भंडारा जिप में राका को सत्ता से दूर रहना पड़ा है. वैसे भी हमेशा तुमसर क्षेत्र राजनीति का केंद्र बिंदु रहा है. अबकी बार भी इसी परंपरा को कायम रखा गया है.

    दूसरी बार तुमसर को मिला उपाध्यक्ष पद

    जिप का उपाध्यक्ष पद तुमसर क्षेत्र को दूसरी बार मिला है. इसके पूर्व रमेश पारधी उपाध्यक्ष बने थे तो अबकी बार गर्रा जिप क्षेत्र से चुनकर आए संदीप टाले को उपाध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौंपी गई है. विकास फाउंडेशन के टाले लगातार तीसरी बार जिप में चुनकर आए हैं यही नहीं इस बार उन्होंने आंबागढ़ जिप क्षेत्र से अपनी बहन मेहर को चुनकर लाने में अहम भूमिका का निभाई थी.

    क्षेत्र में दौड़ी खुशी की लहर

    जिप में जो कुछ भी घटना क्रम हुआ हो लेकिन उपाध्यक्ष पद तुमसर क्षेत्र को प्राप्त होने परिसर में खुशी की लहर दौड़ आयी है एवं उसमें भी विकास फाउंडेशन का उपाध्यक्ष बनने से क्षेत्र में एकच भाऊ चरण भाऊ की जमकर नारेबाजी की गई थी. साथ ही वाघमारे के जनसंपर्क कार्यालय के सामने जमकर आतिशबाजी की गई थी.