आ गई दीपावली फिर भी नहीं लगे जनरल डब्बे, आरक्षण फुल, घर वापसी के लिए लंबी वेटिंग

    भंडारा. वर्ष के सबसे बड़े पर्व दीपावली पर अपने-अपने गांव जाने के लिए लोगों में होड़ मची है. सुरक्षित तथा आसान यात्रा के लिए आरक्षण करने के लिए जाने वालों के हाथ निराशा ही लग रही है, क्योंकि सभी गाड़ियों में आरक्षण का कोटा पूराहो गया है. आरक्षण फुल होने की स्थिति में लोगों की ओर से यह मांग की जा रही है कि कम से कम दीपावली तक सभी गाड़ियों में जनरल डब्बे लगाए ताकि जिन्हें आरक्षण नहीं मिला है, वे किसी न किसी तरह अपने गांव तक जाने को तो मिले. 

    भंडारा रोड रेलवे स्टेशन से मुंबई हावडा मार्ग पर पड़ता है. इस मार्ग से वर्तमान में छह एक्सप्रेस गाडियों का परिचालन हो रहा है. इन छह गाड़ियों में गोंदिया- मुंबई विदर्भ एक्सप्रेस, गोंदिया कोल्हापुर महाराष्ट्र एक्सप्रेस, गीतांजलि एक्सप्रेस, निजामुद्दीन एक्सप्रेस, विलासपुर- अहमदाबाद एक्सप्रेस का समावेश है.

    इन गाडियों क अलावा तुमसर-तिरोड़ी रेल मार्ग, नागपु-दुर्ग मेमो गाडियां भी भंडारा रेलवे मार्ग से ही गुजरती हैं. लेकिन कोरोना महामारी के मद्देनज़र बंद की गई पैसेंजर रेलगाड़ी अभी-भी पूरी तरह से बंद है. दीपावली पर्व के लिए चंद दिन ही शेष बचे हैं, ऐसे में जिन लोगों को अपने घर-गांव जाना है, उनके समक्ष यह समस्या खड़ी हो गई है कि वे बगैर आरक्षण के घऱ जाए तो कैसे.

    कुछ गांव जाने के इच्छुक रेल विभाग से यह पूछ रहे हैं कि जिसअन्य गाड़ियों का परिचालन शुरु हो गया है तो फिर पैसेंजर गाड़ियों कब पटरी पर आएंगी. उल्लेखनीय है कि अभी कुछ दिनों पहले ही रेलवे में आरक्षण होना शुरु हो गया है, लेकिन बहुत कम यात्रियों को आरक्षित टिट मिल पाया है. तत्काल सेवा के तहत टिकट पाना  फिलहाल संभव नहीं दिखायी पड़ रहा है.