file photo
file photo

    भंडारा. रात में 3 से 5 लोग सड़क पर मौजूद होते हैं, अगर कुछ लोग बहस कर रहे हों तो वहीं नहीं रुकना चाहिए. विवाद की तरह दिखने वाला यह विवाद व्यक्ति को व्यस्त रखने और फिर उन्हें लूटने का खेल मात्र है. इस कारण यदि बिना कारण सड़क पर विवाद हो जाए तो मध्यस्थता या विवाद में न पड़े.

    शहर में इस तरह की घटनाएं सामने आने के बाद पुलिस विभाग भी सतर्क हो गया है. इस संदर्भ में पुलिस प्रशासन ने नागरिकों से आह्वान किया है. हो सकता है कि भंडारा शहर में ऐसा न हुआ हो, लेकिन लुटेरों ने यह नया तरीका खोज निकाला है. विवाद किसी व्यक्ति द्वारा बिना कारण किया जाता है. इससे छोटी-बड़ी घटनाएं भी होती है. कई बार यह बड़ी घटना में बदल जाती है. इसी वजह से पुलिस विभाग की ओर से बीच में ना पडने की सलाह भी दी जाती है.  

    यह तो किसी के भी साथ घटित हो सकता है

    किसी समूह या सुनसान सड़क पर रात के समय अगर कोई अनजान व्यक्ति रुक ​​जाए या जोर-जोर से बहस करे तो वहां नहीं रुकना चाहिए. इस विवाद में मध्यस्थता करने की भी तैयारी नहीं रखनी चाहिए. यह आपको फंसाने की एक तरकीब हो सकती है. समय पर सावधानी के साथ वहां से निकलना ही योग्य है. 

    इस तरह की घटनाएं भले ही ग्रामीण क्षेत्रों में नहीं हुई हों, लेकिन तहसील में मुख्यालय को जोड़ने वाली सड़क पर विशेषता हाईवे पर ऐसा हो चुका है. यह सावधान रहना महत्वपूर्ण है कि परिणामस्वरूप आपके साथ ऐसा न हो.

    सावधानी बरते

    जिला पुलिस प्रशासन की ओर से अपील की गई है कि रात के समय बहुत जरूरी काम होने पर ही अकेले बाहर जाने के बजाय 2 लोगों के साथ जाना बेहतर है. किसी पर भरोसा करने की बजाय पुलिस हेल्पलाइन या टोल नंबर पर संपर्क करें. संदेह होने पर इसकी सूचना तत्काल पुलिस विभाग को दे.