जंगल गश्त में वन कर्मियों को बाघ के दर्शन, अंतरगाव/चिचोली जंगल में हूए दर्शन

Tiger sighting , forest workers , jungle patrol, , Antargaon / Chicholi forest

    लाखांदूर. नियमित जंगल गश्त के तहत 7 मई को प्रात:काल के दौरान तहसील के अंतरगाव/चिचोली के जंगल गश्त पर गए वनकर्मीयों को पट्टेदार बाघ के दर्शन हूए है. हालांकि उक्त दर्शन होने पर वनकर्मीयों द्वारा तेन्दुपत्ता संकलन करनेवाले नागरिकों में जनजागृती की गई है.

    बाघ के हमलें में दो व्यक्ति हूए थे शिकार 

    इस वर्ष स्थानीय लाखांदूर तहसील में दहेगाव व इंदोरा के जंगल क्षेत्र गए दो विभिन्न व्यक्ति बाघ के हमलें में शिकार हूए थे. इस घटना से जंगल क्षेत्र के ग्रामीणों में बाघ की दहशत निर्माण हुई थी. हालांकि दोनों घटनाओं में सीटी-1 नामक एक ही बाघ ने दो विभिन्न व्यक्तियों के शिकार करने से उक्त बाघ नरभक्षक होने का आरोप लगाया गया था. 

    इस बीच गडचिरोली जिले के देसाइगंज/वडसा तहसील के कोरेगाव /छोप जंगल क्षेत्र में हाल ही में एक युवक की शिकार सीटी-1 नामक बाघ ने ही करने की जानकारी मिली है. जिससे उक्त बाघ नरभक्षक होने का नागरिकों का दावा सच होने की चर्चा है. जबकी इसके पुर्व तहसील में दो व्यक्तियों का शिकार करनेवाले सीटी-1 बाघ ने अन्य जिलों के जंगल में पलायन करने का अनुमान व्यक्त किया जा रहा है.

    वनविभाग ने किया सतर्कता का आवाहन 

    स्थानीय लाखांदूर तहसील के जंगल क्षेत्र के ग्रामीणों द्वारा जंगल से तेन्दुपत्ता संकलन किया जा रहा है. इस बीच जंगली प्राणी व मनुष्य संघर्ष रोकने के लिए वनविभाग द्वारा जंगल क्षेत्र के ग्रामीणों में आवश्यक जनजागृती व सतर्कता का आवाहन किया गया है. हालांकि पिछले कुछ महिनों में तहसील के विभिन्न क्षेत्र में जंगली प्राणियों के आतंक से मनुष्य सहित विभिन्न मवेशियों के शिकार की घटना के पृष्ठभुमि पर उक्त आवाहन किया गया है.