Commit Suicide
प्रतीकात्मक तस्वीर

    इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती 

    लाखांदूर. दो नन्हे बच्चे व वृद्ध सांस के साथ सुख शान्ती से एक ही परिवार में जिवनयापन कर रही एक 25 वर्षीय विधवा महिला ने स्वयं को जलाकर खुदकशी की कोशिश की. उक्त घटना स्थानीय लाखांदूर तहसील के आथली गाव में 13 अक्टूबर को सुबह 11 बजे के दौरान घटित हुई. हालांकि इस घटना में 1 वर्षीय नन्हा बच्चा भी आंशिक रुप से जलकर घायल हुआ है. 

    प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना की आथली निवासी श्रेया मनोज शहारे (25) नामक विधवा महिला खुशी (5), भारत (01) व 60 वर्षीय वृद्द सांस के साथ एक ही परिवार में रह रहे है. घटना के दिन रात के दौरान परिवार में सभी लोगों के रहते गाव के ही एक व्यक्ती ने पिडीत महिला के घर में घुसकर पिडीत विधवा से शरीर सबंधों की मांग की. 

    इस दौरान सांस सहित पिडीत विधवा द्वारा विरोध किए जाने पर धमकी देकर व्यक्ति घर से भाग गया. इस घटना की सुबह के दौरान ग्रामिणों को जानकारी होते ही ग्रामिणों में आक्रोश व्यक्त किया गया. जबकी पिडीत विधवा सामाजिक बदनामी को लेकर मानसिक तणाव में देखी गई. 

    इस बीच सुबह के दौरान सांस खेत पर धान फ़सल काटने जाने पर घर में कोई नहीं होने का लाभ ऊठाकर बदनामी के तणाव आए महिला ने स्वयं को जलाकर खुदकशी की कोशिश की.  

    इस दौरान भारत नामक एक वर्षीय बालक जलती हुई महिला को लिपटने से वह भी आंशिक रुप से जल गया. इस घटना की जानकारी पडोसियों सहित ग्रामिणों को होते ही उन्होंने तुरंत जलने से घायल महिला एवं बच्चे को स्थानीय लाखांदूर के ग्रामीण अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती किया. 

    किंतु महिला प्रकृती गंभीर होने के कारन उसे आगे के इलाज के लिए भंडारा के जिला अस्पताल में भेजा गया है. इस घटना की लाखांदूर पुलिस को जानकारी दिए जाने की चर्चा है. समाचार लिखे जाने तक पुलिस में मामला दर्ज नहीं किया गया था.