Maharashtra Cabinet Meeting

    मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के मामलों में लगातार कमी आने के बाद उद्धव ठाकरे सरकार (Uddhav Thackeray) ने गुरुवार को हुई कैबिनेट बैठक में सभी कोरोना प्रतिबंध (covid-19 restrictions) हटाने का बड़ा फैसला किया है। हालांकि, सरकार ने लोगों से मास्क लगाने की अपील की है।

    महाराष्ट्र के मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने ट्वीट कर कहा कि, “राज्य कैबिनेट ने राज्य में सभी मौजूदा COVID-19 प्रतिबंधों को हटाने का फैसला किया है। अब सभी त्योहार धूमधाम से मनाए जा सकते हैं, मास्क पहनना अनिवार्य होगा।”

    उल्लेखनीय है कि, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने नवंबर 2021 में अपनी रीढ़ की सर्जरी के बाद पहली बार व्यक्तिगत रूप से बैठक में भाग लिया।

    गौरतलब है कि महाराष्ट्र में अधिकांश लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जा चुकी है। राज्य में तेजी से टीकाकरण हुआ जिससे काफी हद तक कोरोना संकट टल गया है। इसलिए अब सरकार ने सभी कोरोना प्रतिबंधों को हटाने का फैसला लिया है। प्रतिबंध हटने के बाद आपदा प्रबंधन अधिनियम भी निरस्त हो जाएगा। इसलिए मास्क का इस्तेमाल नहीं करने पर लगने वाला जुर्माना भी रद्द कर दिया जाएगा। हालांकि, राज्य सरकार ने लोगों से मास्क का इस्तेमाल करने की अपील की है। जितेंद्र आव्हाड ने कहा है कि जो लोग मास्क का उपयोग करना चाहते हैं वे करें, जो नहीं करना चाहता वो ना करें। मास्क का उपयोग वैकल्पिक है।

    2 अप्रैल से महाराष्ट्र में क्या बदलेगा?

    • महाराष्ट्र में 2 अप्रैल से सभी कोरोना पाबंदियां हटा ली जाएगी।
    • गुढ़ी पाडवा जुलूस, डाॅ. बाबासाहेब आंबेडकर जयंती धूम-धड़ाके से मनाई जाएगी।
    • केंद्र के निर्णय के अनुसार मास्क लगाना और सोशल डिस्टन्सिंग का पालन किया जाएगा।
    • महाराष्ट्र के फैसले के मुताबिक मास्क लगाना अनिवार्य नहीं होगा, मास्क पहनना ऐच्छिक होगा।
    • होटल, पार्क, जिम, सिनेमा, शिक्षण संस्थानों में उपस्थिति की कोई सीमा नहीं होगी।
    • शादियों या पारिवारिक कार्यक्रम, समारोह, अन्त्येष्टि में उपस्थिति की कोई सीमा नहीं होगी।