...then BJP will break the lock of temples, BJP President Chandrakant Patil warned

    मुंबई: महाराष्ट्र में सोमवार को बंद को लेकर महा विकास अघाडी (एमवीए) सरकार पर निशाना साधते हुए, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दावा किया कि किसानों के लिए तीन दलीय सरकार की चिंता “शुद्ध पाखंड” है और आरोप लगाया कि उसने सरकारी तंत्र का दुरुपयोग करके बंद ‘थोपा’ है।

    महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि अगर एमवीए सरकार किसानों के लिए इतनी ही चिंतित है, तो उसे पहले राज्य के विदर्भ और मराठवाड़ा क्षेत्रों में बेमौसम बारिश से प्रभावित कृषकों को राहत देनी चाहिए।

    शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के सत्तारूढ़ गठबंधन ने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में हाल में चार किसानों की हत्या के विरोध में राज्यव्यापी बंद का आह्वान किया है।   

    फडणवीस ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार लखमीपुर खीरी घटना के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने में सक्षम है, लेकिन महाराष्ट्र के किसान गहरे संकट में हैं। राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री ने दावा किया कि राज्य में करीब 2,000 किसानों ने खुदकुशी की है और उन्हें न तो कर्ज माफी मिली है और न ही राज्य सरकार से किसी प्रकार की सहायता मिली है।

    उन्होंने कहा, “महा विकास अघाड़ी द्वारा बुलाया गया बंद शुद्ध पाखंड है। अगर सरकार को वास्तव में किसानों की चिंता है तो उसे मराठवाड़ा और विदर्भ के किसानों के लिए तत्काल राहत की घोषणा करनी चाहिए।”

    भाजपा नेता ने आरोप लगाया, “पुलिस और प्रशासन का इस्तेमाल कर लोगों को बंद का पालन करने के लिए मजबूर किया जा रहा है।” महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि राज्य में आयकर विभाग के छापों से ध्यान हटाने के लिए राकांपा ने बंद का आह्वान किया है। आयकर विभाग ने पिछले हफ्ते उपमुख्यमंत्री और राकांपा नेता अजीत पवार की करीबी कंपनियों पर छापे मारे थे। 

    पाटिल ने दावा किया कि बंद विफल रहा और इसे लोगों से बहुत कम प्रतिक्रिया मिली है। मुंबई से भाजपा विधायक आशीष शेलार ने पत्रकारों से बात करते हुए आरोप लगाया, “महाराष्ट्र में बंद का किसानों, छात्रों, व्यापारियों और लोगों ने विरोध किया था, लेकिन सरकार ने सरकारी तंत्र का दुरुपयोग करके इसे लोगों पर थोपा है।”

    राज्य में एमवीए सरकार पर कटाक्ष करते हुए शेलार ने कहा कि “बंद” शब्द इस सरकार को बहुत प्रिय है। उन्होंने कहा कि लोग एमवीए सरकार को सबक सिखाएंगे और ” पूरे राजकीय सम्मान के साथ इसका बोरिया बिस्तर बांध देंगे।” 

    शेलार ने आरोप लगाया, “बंद का लोगों ने विरोध किया था, लेकिन सरकारी अधिकारी लंबे समय से लोगों के मन में डर पैदा कर रहे थे। बंद पुलिस सुरक्षा में थोपा गया था, इसलिए यह सरकारी बंद है।” सोलापुर में जहां राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने बंद का आह्वान किया था, वहां बाजार सुबह से ही खुल गए थे। भाजपा नेता ने कहा कि किसान अपनी उपज बाजार में लाए और उसे बेचकर गए।

    शेलार ने दावा किया कि मुंबई के दादर इलाके में, जहां शिवसेना भवन स्थित है, वहां भी किसान अपनी उपज बाजार में लेकर आए और सुबह 10 बजे तक सभी लेनदेन हुआ। शेलार ने कहा कि सतारा में, भाजपा सांसद उदयनराजे भोसले खुद सड़क पर निकले और बाइक चलाई। उन्होंने कहा कि शिरडी शहर में भी सभी व्यापारिक लेनदेन चल रहा है।