File Photo
File Photo

    मलकापुर. मध्य प्रदेश, खांदेश तथा बुलढाना जिला परिसर में दुपहिया चोरी करने वाली आंतरराज्यीय गिरोह का भंडाफोड़ कर आरोपियों को गिरफ्तार करने में मलकापुर शहर पुलिस ने सफलता पायी है. ऐसी जानकारी उप विभागीय पुलिस अधिकारी अभिनव त्यागी ने आयोजित पत्रकार परिषद में दी.

    उन्होंने बताया कि बुरहानपुर (मध्य प्रदेश), जलगांव खांदेश, मुक्ताईनगर, बुलढाना जिला इस  परिसर से दुपहिया चोरी की घटनाए बढ़ गई थी. 21 जुलाई को द्वारका नगर मलकापुर से राम राउत की अज्ञात आरोपी ने दुपहिया चोरी की थी. इसकी शिकायत मिलने पर शहर पुलिस मामला दर्ज कर जांच शुरू की.

    शहर पुलिस थाने के डीबी स्कॉड के अधिकारियों ने दुपहिया की खोज एवं आरोपी की तलाश गुप्त तौर पर करते हुए कुख्यात दुपहिया चोर आकाश उर्फ संतोष रावलकर, रामशंकर भोलनकर, पवन जवरे, प्रशांत बोरले सभी निवासी कुर्हा काकोडा, तह.मुक्ताईनगर, जि.जलगांव, अमरदीप उमाले  निवासी बहापुरा तह.मलकापुर, संतोष कवले निवासी आडविहीर तह.मोताला को गिरफ्तार किया. उक्त चोरों ने राज्य एवं राज्य के बाहर विविध स्थानों से दुपहिया चोरी कर वह अलग अलग जगह बेच दी है.

    पुलिस ने आरोपियों के पास से विभिन्न शहरों से चोरी की गयी विविध कंपनी की करीब 12 लाख 60 हजार रू. मूल्य की 21 दुपहिया भी जब्त की है. आरोपियों ने अपराध कबूल कर लिया है. एसडीपीओ त्यागी ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ इस संबंध में जिन स्थानों से दुपहिया चोरी की गयी है उन क्षेत्रों के थाने में मामले दर्ज किए गए हैं.

    यह कार्रवाई पुलिस अधीक्षक अरविंद चावरिया, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रवण दत्त, एसडीपीओ अभिनव त्यागी, शहर पुलिस निरीक्षक विजयसिंह राजपूत की सूचना एवं मार्गदर्शन में शहर पुलिस थाने के डीबी दस्ते के अधिकारी सहायक पुलिस निरीक्षक सुखदेव भोरकडे, पुलिस उप निरीक्षक बालाजी सानप, पुलिस कर्मचरी मुंडे, ईश्वर वाघ, संतोष कुमावत, गोपाल तारुलकर, अनिल डागोर, आसिफ शेख, सलीम बर्डे, प्रमोद राठोड़ ने की. आगे की जांच सहायक पुलिस निरीक्षक सुखदेव भोरकडे कर रहे हैं.

    वाहन खरीदते समय दस्तावेजों की जांच कर व्यवहार करें -एसडीपीओ त्यागी

    मलकापुर शहर पुलिस निरीक्षक विजयसिंह राजपूत एवं डी.बी. दस्ते के सहायक पुलिस निरीक्षक सुखदेव भोरकडे के दस्ते ने करीब 21 दुपहिया चोरी के मामले में दुपहिया चोरों को गिरफ्तार किया है. चोर चोरी के दुपहिया बेचते समय ठगते हैं. जिससे वाहन खरीदते समय दस्तावेजों की जांच करने के बाद ही व्यवहार करें यह आहवान एसडीपीओ अभिनव त्यागी ने किया है.