संजय गांधी निराधार योजना अंतर्गत 135 मामले मंजुर, लाभार्थियों को मिली बडी राहत

    मूल. मूल तहसील में संजय गांधी निराधार योजना समिति के अध्यक्ष राकेश रत्नावार की अध्यक्षता में मूल तहसील कार्यालय में लाभार्थियों के मामलों को मंजूरी प्रदान करने हेतु सभा का आयेाजन किया गया. सभा में इंदिरा गांधी विधवा योजना के 6, संजय गांधी निराधार योजना के 13, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय अपंग योजना के 2, श्रावणबाल योजना के 64, वृध्दावस्था योजना के 50 ऐसे कुल 135 मामले मंजुर किए गए. 

    संजय गांधी निराधार योजना व श्रावणबाल, वृध्दावस्था योजना में जिन लाभार्थियों ने आवेदन पेश किए थे. परंतु उनमें कुछ त्रुटीया पायी गई. उन त्रुटीयों को दुरूस्त कर विशेष सभा आयोजन करने का निर्णय लिया गया. 

    जुलाई, अगस्त महिने का सरकार की ओर से अनुदान प्राप्त नही होने से अनुदान वितरण में समय लग रहा है. अनुदान तत्काल प्राप्त होने के लिए शासन समक्ष अपील करने के बारे में समिति की ओर से अनुरोध प्रस्ताव पेश किया है. 

    कोविड 19 के प्रभाव से मृत्यु हुए परिवार के पत्नी को अनुदान देने की दृष्टी से सरकार ने बीपीएल की शर्त रखी है. इसलिए कई परिवार के पास बीपीएल कार्ड नही रहने से अनुदान से वंचित है. इस बारे में समिति की सभा में विस्तार से चर्चा की गई. कोविड प्रभाव से कई परिवार पर आर्थिक संकट निर्माण हुआ है. उन्हे आर्थिक सहाय्य करने की दृष्टी से बीपीएल की शर्त शिथील करने के बारे में शासन के पास अपील करने की बात समिति की सभा में रखी गयी. 

    संजय गांधी निराधार योजना समिति के अध्यक्ष राकेश रत्नावार ने अधिक से अधिक लाभार्थियों को लाभ लेने की दृष्टी से आगे आने तथा कुछ समस्या निर्माण होने पर तहसील कार्यालय के कर्मचारीयों से संपर्क कर कागजादों की पूतर्ता करने की अपील संजय गांधी निराधार योजना समिति के अध्यक्ष व सदस्य ने की है. सभा को संजय गांधी निराधार योजना के अध्यक्ष राकेश या.रत्नावार,  नायब तहसीलदार ठाकरे, संजय गांधी निराधार योजना समिति के सदस्य नितीन येरोजवार, गंगाधर कुनघाटकर, दशरथ वाकुडकर, संजय गेडाम, अर्चना चावरे, रूपाली संतोषवार व संजय गांधी निराधार योजना के  संबंधित कर्मचारी गिरडकर आदि उपस्थित थे.