आजाद गार्डन से के फव्वारे में  छाई काई की परत, फैल सकता है डेंगू, मलेरिया

    Loading

    • महज एक कर्मचारी पर गार्डन के सफाई की जिम्मेदारी

    चंद्रपुर. शहर के मध्य में स्थित मौलाना अबुल कलाम आजाद बाग के फौव्वारे के पास काई छाई है. इसकी वजह से मच्छरों की पैदास बढने से महानगर में डेंगू मलेरिया जैसी बीमारी फैलने की अशंका व्यक्त की जा रही है. किंतु बाग की देखरेख के महज एक कर्मचारी होने की वजह से यहां पर आने सैकड़ों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल परिणाम पडने की संभावना है.

    महानगर पालिका ने दो बार मनपा क्षेत्र में डेंगू का सर्वे किया और सैकडों घरों के पानी में डेंगू के अंडे पाए गए. महानगर पालिका की ओर से शहर में जनजागृति कर गप्पी मछली छोडने और पानी जमा न होने की अपील कर रहा है. किंतु शहर के मध्य में स्थित एकमात्र मनोरंजन स्थल पर इस प्रकार की काई जमा होने से वहां पर मच्छरों का होना लाजमी है. इसकी वजह से मच्छरजनित बीमारी फैल सकती है. इसलिए गार्डन में आने वाले नागरिकों ने यहां की साफ सफाई कर उन्हे बचाने की अपील की है.

    शहर के जयंत टाकीज के पास स्थित डा. अबुल कलाम आजाद गार्डन का लोकार्पण विवादों के साथ 27 मार्च को कर नागरिकों के यह बगीचा खोल दिया गया है. जिससे सुबह शाम टहलने आने वालों के साथ जिले भर की तहसीलों से अपने काम के लिए आने वालों के लिए बडे राहत मिली है.

    करोडों की लागत से पुर्नजीवित किए आजाद गार्डन को बेहतर रंग रुप दिया है. सुंदर रोशनाई की गई है जो शाम के समय पर सभी को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है. बगीच में बनाये हाथी की मूर्ति, हिरण, कंगारु के साथ अनेक प्रकार की सुंदर और कलाकृतिया बनायी गई है. जो सभी को लुभा रही है और गार्डन में नया लुक आकर्षित कर रहा है. लोकार्पण को एक महीना भी नहीं बीता था कि 23 अप्रैल को आजाद गार्डन के एक मात्र कर्मचारी ने पाया कि गार्डन में शराब, पानी की बोतले, चिप्स, कुरकुरे बिस्कुट के खाली पैकेट लोग अंधेरे में इधर उधर फेंक कर चलते बनते है. इसका कारण कारण यह भी है कि एकमात्र कर्मचारी पर बगीचे के देखभाल की जिम्मेदारी है.

     बगीचे में शहर के बुजुर्ग, बच्चे, महिला, युवती, युवाओं के साथ जिले के तहसील भर के लोग यहां आकर कुछ देर आराम करते है. किंतु फौव्वारे के पास दिखाई दे रही काई की वजह से बरसात के दिनों में मच्छरजनित बीमारी फैलने से इंकार नहीं किया जा सकता है. इसलिए इस ओर भी ध्यान देने की आवश्यकता है.

    इस संबंध में मनपा आयुक्त राजेश मोहिते से मोबाइल पर संपर्क करने का प्रयास किया गया. संभावता रविवार अवकाश का दिन होने की वजह से उन्होंने फोन नहीं रिसीव किया है.