ई पीक पंजीयन के लिए किसानों की मदद कर रहा चेतन, किसानों को वर्ष भर करता है मार्गदर्शन

    चंद्रपुर. ई पीक निरीक्षण कार्यक्रम राज्य भर में चलाया जा रहा है. किसानों को मोबाइल एप के माध्यम से फसलों का आनलाईन पंजीयन करना है. किंतु जानकारी अपलोड करने में किसानों को परेशानी आ रही है. कुछ किसानों के पास तो स्मार्टफोन ही नहीं है. नतीजा उन्हे पंजीयन में और भी बाधा आ रही है. इसलिए किसान पुत्र चेतन बोभाटे किसानों की व्यथा समझाकर सामाजिक भावना से मदद कर किसानों का ई पीक पंजीयन कर रहा है.

    राजुरा तहसील के गोवरी निवासी चेतन बोभाटे के पिता किसान है. ई पीक पंजीयन के लिए वह किसानों की मदद कर रहा है. ई पीक निरीक्षण कार्यक्रम राज्य भर में चलाया जा रहा है. किसानों के मोबाइल में ई पीक अपलोड कर खरीफ सीजन की फसलों की बुआई का क्षेत्र, फसल की प्रजाति, सिंचाई युक्त और गैर सिंचाई क्षेत्र जैसी अनेक जानकारी अपलोड करनी है.

    किसानों को फसल के साथ अपनी फोटो अपलोड करनी है. कम पढे लिखे होने से किसान मोबाइल आपरेट नहीं कर पा रहे है और जो कर रहे है उन्हे अनेक परेशानी आ रही है. अनेक गांव में मोबाइल नेटवर्क की समस्या होने की वजह से किसानों को सामने बिकट समस्या आ रही है. किसानों की समस्या को देखते हुए चेतन ने समाजसेवा के उद्देश्य से किसानों के साथ खेत में जाकर ई पीक पंजीयन में मदद कर रहा है.

    इतना ही नहीं स्नातक तक शिक्षित चेतन बोभाटे किसानों को वर्ष भर फसलों के संबंध में मार्गदर्शन करता है. लगातार फसलों की पैदावार न होने के बावजूद किसानों को हताश न हो, कृषि उपज वृध्दि के लिए देश में हो रहे बदलाव की जानकारी देकर किसानों को सुखी और समृध्द बनाने का प्रयास चेतन करता है. अब किसानों के ई पीक पंजीयन में वह मददगार बना है.