आपसी भाईचारा, विश्वशांति के प्रार्थना से सादगी से मना क्रिसमस पर्व- महानगर में रही रौनक

चंद्रपुर. क्रिश्चन अनुयायियों का एकमात्र और सबसे बड़ा पर्व प्रभू यीशू मसीह का जन्मोत्सव अर्थात क्रिसमस पर्व शुक्रवार को पूरे जिलेभर में सादगी के साथ प्रशासकीय नियमों पर अंमल करते हुए क्रिश्चन अनुयायियों ने बड़े ही उत्साह और उल्लास से मनाया. 

जिले भर के चर्च में आज क्रिसमस के मौके पर सुबह 9 बजे विशेष प्रार्थना में क्रिश्चन बंधु एकजुट हुए और उन्होने सभी धर्मों के बीच आपसी भाईचारे, विश्वशांति की प्रार्थनाएं की. क्रिसमस के मौके पर सभी चर्च को आकर्षक रोशनी से सुंदरतापूर्वक सजाया गया था. जिसकी मनमोहक जगमगाहट सभी को आकर्षित कर पर्व कर खुशियां फैला रही थी.

क्रिसमस के मौके पर सभी ईसाई अनुयायियों में खुशी देखते ही बन रही थी. सुबह से ईसाई अनुयायी महिला-पुरूष, बच्चे सुंदर वस्त्रों में सजधज कर चर्च पहुंच रहे थे. संत अंद्रिया देवालय के प्रेसबीटर इन चार्ज रेव्हरेंट की अनुगाई में प्रभू यीशू की सामूहिक आरधना की गई. और बड़े ही उल्लास के दूरी बनाए रखते हुए एक दूसरे को क्रिसमस की बधाई दी. इस समय 60 वर्ष से अधिक व 10 वर्ष के भीतर के बच्चों के लिए भीतर प्रवेश नही था. कोरोना संक्रमण के चलते चर्च में उपासना के लिए 50 से 70 सभासदों को प्रवेश दिया जा रहा था. सरकार के आदेशों पर अंमल करते हुए क्रिसमस पर्व मनाया गया. 

महानगर के मुख्य मार्ग पर रौनक

क्रिसमस के मौके पर महानगर के गांधी मार्ग पर गांधी चौक से लेकर जटपुरा गेट तक सड़क के किनारे वस्तुओं की विक्री वालों ने दुकानें लगा रखी थी जहां बड़ी संख्या में लोग आकर्षक वस्तुएं खरीदने में जुटे थे. बेकरी और होटलों में केक की विक्री बड़े पैमाने पर हुई. यहां भी काफी सजावट की गई थी.