Ambikapur triple murder case, a person in one sided love executed the incident

    दुर्गापुर.  शराब के नशे में धुत्त दो पुराने मित्रों के बीच मामूली बात पर हुआ विवाद मारपीट तक पहुंच गया और इस मारपीट में घायल मित्र ने दम तोड़ दिया. यह वाकया गुरुवार देर शाम को हुआ.

    जानकारी के अनुसार बचपन से एक दूसरे के सगे मित्र रहे सूरज और अक्षय कहीं से शराब पीकर बाइक से दुर्गापुर की ओर लौट रहे थे. बाइक सूरज चला रहा था जो कि तेज रफ्तार से बाइक चला रहा था. बाइक से गिर जाने के डर से पीछे बैठे अक्षय ने उसे बाइक की स्पीड कम करने का आग्रह किया किंतु सूरज कुछ सुनने के मूड में नहीं था.

    इस बीच रोप वे के पास एक साइकिल रिपेरिंग की दुकान के सामने सूरज ने बाइक रोक दी, और उसने पीछे बैठे अक्षय से रोकटोक को लेकर सवाल उठाते हुए झगड़ा शुरू किया. मामूली बात पर शुरू हुए इस झगड़े का अंजाम मारपीट तक पहुंच गया और इसी मारपीट में सूरज नीचे गिर पड़ा. बताया जाता है कि, नीचे गिर पड़ने से क्षुब्ध हुए सूरज ने उठकर अक्षय से मारपीट शुरू की.

    इस मारपीट में अक्षय भी नीचे गिरा. उसे वही छोड़कर सूरज वहां से भाग खड़ा हुआ. आसपास के लोगों द्वारा अक्षय को घायल अवस्था मे अस्पताल ले जाया गया जहां उसे डॉक्टर ने मृत घोषित किया. अक्षय की मौत की खबर सुनते ही सूरज अपने घर से फरार होने की तैयारी में ही था कि पुलिस ने उसे दबोच लिया. पुलिस ने हत्या के आरोप में सूरज यादव को गिरफ्तार कर शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया जहाँ उसे पुलिस हिरासत में रखने का आदेश मिला. 

    गौरतलब है कि, मृतक अक्षय कातकर (25) नेरी वार्ड नंबर 6 का निवासी था उसकी आरोपी सूरज यादव (25) जो कि दुर्गापुर हाईस्कूल के पास का निवासी था. दोनों के बीच बचपन से ही घनिष्ट मित्रता थी. मामले की जांच उपनिरीक्षक प्रवीण सोनावणे के साथ उनके सहयोगी सुनील गौरकार, मनोहर जाधव, मंगेश शेंडे, किशोर वाल्के कर रहे है.