आज भी बेनतीजा रही बैठक, न.प. के लिए सर्वदलीय समिति अडिग

 

  • सभी दल ग्रा.पं. चुनाव बहिष्कार पर एकमत
  • आज होगा चक्काजाम आंदोलन

चंद्रपुर: घुग्घुस ग्रामपंचायत को नगर परिषद का दर्जा दिए जाने की मांग को लेकर गठित सर्वदलीय नगर परिषद संघर्ष समिति ग्रामपंचायत चुनाव के बहिष्कार के लिए अडिग है. आज रविवर को राज्य सरकार की ओर से तहसीलदार और पटवारी ने यहां ग्राम पंचायत में सभी दलों के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं की बैठक ली परंतु लगभग ढाई घंटे से अधिक समय तक चली बैठक बेनतीजा रही. सर्वदलीय बैठक ने आज चक्काजाम आंदोलन करने का निर्णय लिया है.

उल्लेखनीय है कि बरसो से की जा रही नगर पालिका की मांग को पूरा करने के बजाय फिर से ग्रामपंचायत चुनाव की प्रक्रिया प्रारंभ कर दिए जाने से सभी दलों ने ग्रामपंचायत चुनाव बहिष्कार का निर्णय लिया है इसके चलते ग्रामपंचायत चुनाव के लिए नामांकन फार्म भरने की प्रक्रिया प्रारंभ होने के बावजूद अब तक किसी ने भी नामांकन नहीं भरा है और जिन्होने नामांकन के लिए फार्म लिए थे उन्होने भी फार्म बिना भरे ही वापस लौटा दिए है.

सभी दलों ने मिलकर सर्वदलीय नगर परिषद संघर्ष समिति का गठन किया है. इस समिति ने हाल ही में घुग्घुस बंद का ऐलान किया था जिसे घुग्घुस वासियों ने जबरदस्त प्रतिसाद दिया जिससे सभी दलों का उत्साह और बढ गया है. इस बीच समिति ने लोकसभा क्षेत्र के सांसद सुरेश उर्फ बालू धानोरकर और विधायक प्रतिभा धानोरकर को भी निवेदन सौपकर नगर पालिका के गठन की मांग की.

आज रविवार को तहसीलदार गौड़ और पटवारी दिलीप पिल्लै की प्रमुख उपस्थिति में ग्रामपंचायत कार्यालय में सर्वदलीय बैठक रखी थी. अधिकारी लोकतांत्रिक व्यवस्था का हवाला देते हुए ग्रामपंचायत चुनाव में भाग लेने के लिए सभी दलों के पदाधिकारियों को मनाते रहे परंतु लगभग ढाई घंटे चली बैठक बेनतीजा निकली. कोई भी दल चुनाव में हिस्सा लेने को तैयार नहीं था सभी का कहना था कि वें ग्राम पंचायत चुनाव का बहिष्कार करते है और नगर पालिका के चुनाव यदि घोषित होते है तो सभी दल इसमें बढचढकर हिस्सा लेगे. सर्वदलीय संघर्ष समिति के निर्णय को देखते हुए अधिकारियों को वापस लौट जाना पड़ा. इस समय बड़ी संख्या में स्थानीय नागरिक उपस्थित थे.

पिछले बुधवार से शुरू हो चुकी है ग्रा.पं. चुनाव प्रक्रिया

घुग्घुस ग्रामपंचायत चुनाव की प्रक्रिया पिछले बुधवार से शुरू हुई. बुधवार को दिन में जिन लोगों ने चुनाव लड़ने के लिए आवश्यक नामांकन पत्र ग्रामपंचायत से हासिल किए थे. उन्होने ग्रामपंचायत को आज वापस कर दिए. सभी राजनीतिक दलों ने मिलकर ग्रामपंचायत चुनाव का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है. अब तक एक भी व्यक्ति ने फार्म नहीं भरा है.

साथ ही नगर परिषद की निर्मिति के संदर्भ में वर्तमान जिला परिषद सदस्य, महिला एवं बाल समिति सभापति एवं पंचायत समिति के वर्तमान उपसभापति एवं अन्य सदस्यों ने भी अपना कार्यकाल शेष रहने के बावजूद घुग्घुस नगर पालिका के संदर्भ में अपना सकारात्मक अभिप्राय दिया है. कुल मिलाकर घुग्घुस नगर पालिका के निर्माण के लिए यहां एक माहौल तैयार हुआ है.चुनाव बहिष्कार का निर्णय लेनेवाले राजनीतिक दलों में कांग्रेस, भाजपा, राष्ट्रवादी कांग्रेस, शिवसेना, बी.आर.एस.पी., बसपा, रिपाइं, यंग चांदा ब्रिगेड आदि का समावेश है.

बैठक के बेनतीजा रहने के बाद अब सर्वदलीय समिति ने अब चक्का जाम आंदोलन का निर्णय लिया है. आज सोमवार को घुग्घुस में चक्का जाम आंदोलन के संदर्भ में समिति के एक शिष्टमंडल ने थानेदार राहुल गांगुर्डे को निवेदन सौपा है.