अंधकारमय गांव में युवकों का प्रकाशमय कार्य, सोलर लाइटस के सहायता से मनाई दिवाली

    चंद्रपुर. कोरोना महामारी के चलते लगभग डेढ से दो वर्षों से घरों में कैद होकर रहने के बाद सही मायनों में अब स्थिति में काफी सुधार हुआ है.  नमस्ते चांदा बहुउद्देश्यीय संस्था के युवाओं ने दिवाली कुछ विशेष अंदाज में मनाई.

    कुछ दिन पूर्व नमस्ते चांदा बहुउद्देश्यीय संस्था के युवा 15 अगस्त को राजुरा तहसील के बगलवाई गांव पहुंचे थे उस समय उन्हें पता चला कि यहां देश की आजादी के 75 वर्ष बाद भी गांव में बिजली, पेयजल ऐसी कोई सुविधा उपलब्ध नहीं है. इस दौरान उन्होने ग्रामीणों की समस्या समझकर इन समस्याओं का निवारण करने में सहायता करने का आश्वासन दिया था.

    दिवाली मूल रूप से रोशनी और उजाला बिखेरने का त्यौहार है इस पावन दिन गांव के लोगों को सोलर लाईट की सुविधा उपलब्ध कराकर नमस्ते चांदा बहुउद्देशीय संस्था के युवाओं ने दिवाली मनाई साथ ही फराल का वितरण भी किया गया. गांव के नागरिक जिम्मेदारी से मतदान में हिस्से लेते है इसके बावजूद ग्रामीण मूलभूत सुविधा से वंचित है. उक्त समस्या प्रशासन के ध्यान में लाने का प्रयास नमस्ते चांदा फाऊंडेशन ने किया है.