एसटी कर्मचारी के निलंबन पर मानस का चंद्रपुर विभाग नियंत्रक को घेराव

    • मनसे का एसटी कर्मचारीयों के आंदोलन को समर्थन 

    चंद्रपुर. राज्य परिवहन निगम का राज्य सरकार में विलय की मांग को लेकर चंद्रपुर डिपो के कर्मचारियों ने 27 नवंबर से चंद्रपुर में आंदोलन शुरू कर दिया था. दीपावली से पहले धरना प्रदर्शन कर रहे मजदूर अपने हक की मांग को लेकर पिछले चौदह दिनों से हड़ताल पर हैं. एसटी कार्यकर्ताओं ने राज्य सरकार से मांगें पूरी होने तक भूख हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है. इस दौरान चंद्रपुर विभाग नियंत्रक ने 20 से अधिक कर्मचारीयों का निलम्बन किया. विभाग द्वारा उठाए गए इस कदम को लेकर मनसे ने बुधवार को विभाग नियंत्रक को घेराव कर आंदोलन को समर्थन दिया. 

    मनसे पदाधिकारीयो ने कहां है कि, राज्य सरकार ने एकतरफा नीति अपनाते हुए कर्मचारीयेां की मांगों को नजरअंदाज करते हुए हड़ताल खत्म करने के दबाव में मंगलवार को चंद्रपुर में 14 और महाराष्ट्र में 376 कर्मचारियों को निलंबित करने का आदेश दिए.

    इस संदर्भ में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के चंद्रपुर जिलाध्यक्ष दिलीप रामेडवार, विद्यार्थी सेना जिलाध्यक्ष राहुल बलमवार, महिला सेना जिलाध्यक्ष सुनीता गायकवाड़ की ओर से बुधवार को चंद्रपुर में आंदोलनकारीयों से मुलाकात की और मनसे ने उनकी मांगों का समर्थन किया.

    साथ ही, अगर निकट भविष्य में कर्मचारियों की मांगें पूरी नहीं की जाती हैं, तो महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने आंदोलन की चेतावनी दी है. मनसे ने सवाल किया कि चार किसानों और उत्तर प्रदेश की मौत के लिए महाराष्ट्र को बंद करने वाली सरकार 38 कर्मचारियों के आत्महत्या करने के बावजूद अब चुप क्यों है यह सवाल उठाया गया.