नवेगांव ब्राम्हण भिसी मार्ग का काम अटका, ग्रामीण और विद्यार्थियों को हो रही परेशानी

    चिमूर. तसहील के नवेगांव ब्राम्हण से भिसी मार्ग का काम अटका पडा है. भिसी से नवेगांव ब्राम्हण का अंतर 1.6 किमी है. इस मार्ग से ग्रामीण और विद्यार्थियों को आवागमन लगा रहता है. इसकी वजह से उन्हे भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है. इसलिए काम को तुंरत पूरा करने की मांग ग्रामीणों ने की है.

    मार्ग पर बढ़ी दुर्घटनाएं

    इस मार्ग को वर्ष 2018-2019 में मंजूरी मिली है. मंजूरी मिलने के बाद 12 जून 2019 को काम की शुरुवात की गई. रोड पर 50 से 60 मीटर लंबी काली गिट्टी बिछाई गई. गिट्टी बिछा दिए जाने से इस मार्ग से आवागमन करने वालों के यह मार्ग बंद पड गया. क्योंकि इस मार्ग से आवागमन करनेवालों को भारी परेशानी का सामना करना पडता.

    वाहन चालकों को इस मार्ग से आवागमन में खासी मशक्कत करनी पडती. क्योंकि वाहनों के पहिये में गिट्टी लगने का खतरा बना रहता है गलती से कही वाहन स्लीप होकर गिर पडे तो गिट्टी लगने का खतरा बना रहता है. इस प्रकार की अनेक घटनाएं हुई है.

    1 जून 2020 तक पूरा होना था काम

    काम की शुरुवात निर्धारित समय पर होने के बाद इसका निर्माणकार्य 1 जून 2020 तक पूरा हो जाना चाहिए था. किंतु मार्च 2020 से देश भर में आए कोरोना संकट की वजह से मार्ग का काम ठप पड गया था. नतीजा आज भी पूरा नहीं हुआ है. जैसे जैसे कोरोना का संकट कम होने लगा तो मार्गो के कामों की शुरुवात हुई किंतु इस काम को गति नहीं मिल सकी और बाद पुन: कोरोना की दूसरी लहर का कहर जारी हो गया और आज तक काम अधूरा पडा है.

    इसलिए नवेगांव, ब्राम्हण से भिसी रोड का कात तत्काल पूरा कर लोगों को समस्या से छुटकारा दिलाने की मांग का निवेदन कार्यकारी इंजीनियर, प्रधानमंत्री ग्राम सडक योजना चंद्रपुर को समाजसेवी कमलाकर बोरकर, संदीप खंडाल, बाबा पाटील, कमलाकर पाटील, ग्रापं सदस्य सुधाकर वाकडे आदि ने दी है.