एसटी के श्रेणी और 3-4 कर्मियों ने शुरु किया राज्यव्यापी आंदोलन

    • मांग पूरी न होने पर हो सकती सेवा प्रभावित

    चंद्रपुर. राज्य सरकार कर्मचारियों की भांति राज्य परिवहन निगम कर्मियों को महंगाई भत्ता और एचआर अलाउंस समेत अन्य मांगों के लिए राज्य परिवहन निगम की संयुक्त कृति समिति के बैनर तले आज से राज्यव्यापी आंदोलन शुरु किया है. यदि मांग जल्द पूरी नहीं हुई तो रापनि की यात्री सेवाएं प्रभावित हो सकती है. 

    राज्य सरकार कर्मचारियों की तर्ज पर एसटी कर्मियों को भी महंगाई भत्ता, एचआरए मिले, वार्षिक वेतनवृध्दि 3 प्र.श. लागू करें, एसटी कर्मियों को दिया जाने वाले एडवांस की राशि जल्द से जल्द जमा करें, दीवाली बोनस के 15,000 रुपए जल्द से जल्द कर्मियों के खाते में जमा करें, 2018 में कामगार करार हुआ किंतु उसे आज तक लागू नहीं किया गया है. इसलिए उसे तत्काल लागू कर कामगारों को सुविधा प्रदान करने जैसी मांगों के लिए आज से कृति समिति ने राज्य भर के डिपो में आंदोलन शुरु किया है. इसके तहत चंद्रपुर के डिपो में आज सुबह से आंदोलन शुरु किया है.

    इस आंदोलन को यात्री बस सेवा पर फिलहाल कोई प्रतिकूल परिणाम नहीं पड़ रहा है. किंतु सरकार ने मांगे पूरी नहीं की तो इसका असर यात्री सेवाओं पर भी पडने की संभावना से समिति ने इंकार नहीं किया है. इस आंदोलन में संयुक्त कृति समिति, महाराष्ट्र एसटी कामगार संगठना, ड्राईवर, कंडक्टर, श्रेणी तीन चार के कर्मचारी शामिल है. 

    आज आंदोलन में बैठने वालों में कंस्ट्राईब संगठना के अशोक माहुरकर, इंटक ज.स. के विनोद दातार, कामगार सेना के रविंद्र चामलवार, मकोका संतोष भिवापुरे, कामगार सेना के सतीश लुथडे, कस्ट्राईब संगठना के विशाल नगराले, माकोका के संदीप लांडे, गणेश पांचभाई, कामगार संगठना के संजय सोमलकर, कामगार सेना के भरत पवार, कंस्ट्राईब संगठना के आशिष सोनवणे, ममोका के प्रमोद जुनघरे और कामगार संगठना की स्नेहलता वासनिक का समावेश है.