शहरी आशा वर्कर का मनपा के सामने ठिया आंदोलन

    • जनवरी से बकाया चार हजार रुपये कोविड प्रोत्साहन भत्ता देने की मांग

    चंद्रपुर. महानगर पालिका स्तर पर सभी आशा वर्कर लोगों में जनजागृति करने, स्वासथ्य के प्रति आगाह करने, महाआयुष सर्वे करने, कोविड 19 से जुड़े अन्य काम दिन रात मेहनत कर अपनी जान की परवाह ना करते हुए करती आ रही है. उन्हें मिलनेवाला मानधन के अलावा मनपा की ओर से एक आदेश जारी कर अगस्त 2020  से मासिक चार हजार रुपये प्रोत्साहन भत्ता कोरोना काल रहे तक देने का निर्णय लिया गया था.

    इसका क्रियान्वयन दिसंबर तक कियाग या परंतु जनवरी से बकाया मानधन देने के लिए महानगर पालिका टालमटोल कर रही है इसके चलते आयटक के राज्य सचिव विनोद झोडगे के नेतृत्व में 26 अक्टूबर से महानगर पालिका कार्यालय के सामने बेमियादी ठिया आंदोलन शुरू है.

    मनपा प्रशासन कोरोना काल में आशा वर्कर को प्रतिमाह 4 हजार रुपये देने का मान्य किया था. यह जनवरी से बकाया है. आज तक नहीं दिया गया है. इसे माने के लिए आयटक के नेतृत्व में पिछले 3 महीने पूर्व मनपा कार्यालय के सामने बेमियादी ठिया आंदोलन शुरू किया गया है. जब तक बकाया प्रोत्साहन भत्ता नहीं मिलता तब अनशन पर अडिग रहने का निर्णय महिलाओं ने लिया है.

    इससे पूर्व भी अनेक निवेदन आयुक्त, महापौर मैडम एवं सभी नगरसेवक को दिएगए है. परंतु निरंतर उनकी मांगों की ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है. बीच में 12 अप्रैल 2021 को आशा वर्कर ने तीव्र आंदोलन भी किया था उस समय आंदोलन की  दखल मंत्री तथा पालकमंत्री विजय वडेट्टीवार ने लेते हुए आयुक्त मोहिते से चर्चा करायी थी.

    उस समय आयुक्त ने जनवरी से सितंबर 2021 तक प्रोत्साहन भत्ता देने का मान्य किया था. परंतु अब तक पांच महीने होने के बाद भी इसका क्रियान्वयन नहीं होने से आशा वर्कर ने प्रशासन पर नाराजी जताते हुए 5 अक्टूबर को नियोजन भवन में पालकमंत्री का घेराव किया था. उस समय पालकमंत्री विजय वडेट्टीवार ने मनपा आयुक्त से निधि के संदर्भ में जानकारी हासिल कर जिला खनिज निधि से 40  से 50  लाख रुपये देने की जानकारी पत्र परिषद में दी थी.

    इसके बावजूद आशा वर्कर को अब तक जनवरी से बकाया कोरोना प्रोत्साहन भत्ता नहीं दिया गया है इसके चलते 26 अक्टूबर से मनपा कार्यालय में ठिया आंदोलन शुरू किया गया है. रात 9 बजे महापौर, उपमहापौर और आयुक्त के साथ चर्चा हुई परंतु उचित निर्णय नहीं हो पाया. आशा वर्कर ने कार्यालय के सामने जोरदार ठंड में दूसरे दिन भी ठिया आंदोलन शुरू रखा हुआ है ऐसी जानकारी विनोद झोडगे , शहर अध्यक्ष सविता गटलेवार, सचिव प्रतिमा कायरकर ने दी है. दीपावली पूर्व प्रोत्साहन भत्ता मिलने बिना आंदोलन जारी रखे जाने की भूमिका आयटक ने ली है.