File Photo
File Photo

    • चार दिन में दूसरा बली 

    पोंभूर्णा. पोंभूर्णा वनपरिक्षेत्र अंतर्गत आनेवाले कसरगट्टा बीट के कविठबोली खेत में कपास चुनने गए महिला पर बाघ ने हमला किया. जिसमें महिला की मृत्यु हो गयी. यह घटना बुधवार की दोपहर 2 बजे घटी. कसरगट्ठा निवासी बेबी हनुमान धोडरे 55 यह मृतक महिला का नाम है. पिछले 4 दिन में यह दूसरी बली है. 

    चार दिन पहले ताडोबा-अंधारी व्याघ्र प्रकल्प में महिला वनरक्षक स्वाती ढुमने कर्तव्य निभाते समय माया नामक वाघिण ने हमला किया. जिसमे स्वाती की मृत्यु हो गयी. इस घटना को अधिक दिन नही बीते की बुधवार को पोंभूर्णा तहसील में पुन: बाघ ने एक महिला की बली ली है. जिससे बाघ की दहशत अब अधिक बढ गयी है. 

    कसरगट्टा गांव से लगे कविठबोली खेत सर्वे नंबर 55 में गंगाराम मोहन धोडरे के खेत में मृतक महिला बेबी मजदूरी से कपास बेचने के लिए खेती में गयी थी. दौरान बाघ ने महिला पर हमला कर दिया. इस घटना की जानकारी वनअधिकारी को दिए जाने पर अधिकारी घटनास्थल दाखिल हुए. घटना का पंचनामा कर मृत महिला का शव पोस्टमार्टम के लिए प्राथमिक स्वास्थ केंद्र पोंभूर्णा भेजा गया. मृतक महिला के पश्चात पती, लडका, बहु, नात ऐसा परिवार है. परिवार में शोक है. 

    चार दिन में दो महिलाओं की बली   

    वन्यप्राणियों की गनना करते समय ट्रांजिस्ट लाईन डालने का काम ताडोबा अभयारण्य के पाणी की टंकी के पास चल रहा था. वहां महिला वनरक्षक स्वाती ढुमणे (31) यह 4 वनमजुरों केा साथ में लेकर शनिवार की सुबह कोलारा कोर क्रमांक 97 में गयी. वहां वॉटर होल के पास पाणी है अथवा नही? इसका मुआवना वह कर रहे थे. दौरान वाटर होल के पास छिपे माया बाघिन ने उसपर हमला कर दिया. जिसमें स्वाती की मृत्यु हो गयी. 

    नागरिकों में दहशत 

    संरक्षित व असंरक्षित जंगल में बाघों की संख्या बढ रही है. गांव के पास जंगली झाडीयों में बाघों का संचार चल रहा है. गांव के नागरिक पास के खेती तथा जंगल से लकडे लाने के लिए जंगल जाते है. जहां झाडीयों में छिपे बाघ इसका लाभ उठाकर उनपर हमला कर रहे है. आए दिन ऐसी घटनाओं में वृध्दी होती जा रही है. इन घटनाओं से परिसर में बाघ की दहशत फैल रही है. बाघ का बंदोबस्त करने की मांग गांववासियों द्वारा की जा रही है.