In Maharashtra, 65 people died in just 9 months in wild animal attacks, 23 tigers died in 6 months, the state government said
File Photo

    मूल: खेत में लाखोडी की तुडाई कर रही एक महिला पर बाघ ने पीछे से हमला कर 50 मीटर तक घसीटते ले गया। जिसमें ज्ञानेश्वरी वासुदेव मोहुर्ले  (55) की मौत हो गई है। यह घटना आज शुक्रवार की शाम 4 बजे तहसील के कोसंबी गांव के पास घटी है। 

    मूल से 4 किमी दूरी पर कोसंबी निवासी महिला किसान का खेत गांव से श्मशान भूमि की ओरजाने वाले मार्ग पर एक किमी दूरी पर है। आज वह खेत में लाखोडी दाल की तुडाई कर रही थी कि बाघ ने उसके पीछे से हमला कर दिया। घटना की सूचना कोसंबी वासियों को ज्ञात होते ही सरपंच रविंद्र कांबडे, पुलिस पाटील अर्चना मोहुर्ले, सारिका गेडाम और ग्रामीण मौके पर पहुंचे।

    सूचना मिलते ही मूल के थानेदार सतीशसिंह राजपूत अपने दल के साथ पहुंचे। वनविभाग की वनपरिक्षेत्र अधिकारी प्रियंका वेलमे, क्षेत्र सहायक प्रशांत खनके, वनरक्षक राकेश गुरनुले, वनरक्षक मरस्कोल्हे तत्काल मौके पर पहुंचे। पुलिस ने शव का पंचनामा बना पोस्टमार्टम के लिए उपजिला अस्पताल मूल में भेज दिया है।

    वनविभाग की ओर से वनपरिक्षेत्र अधिकारी प्रियंका वेलमे ने मृतक के परिजनों को 50,000 रुपए की तत्काल सहायता दी है। मामले की जांच वनविभाग की ओर से प्रियंका वेलमे, थानेदार सतीशसिंह राजपूत अपने सहयोगियों के साथ कर रही है।

    जिले में पांचवी घटना

    आज की घटना के साथ चंद्रपुर जिले में दो महीने में हिंसक जानवर के हमले में मरने वालों की संख्या 5 हो गई है। जिसमें 4 बाघ और एक बालक तेंदुए के हमले में मरा है। लगातार हो रही घटनाओं से ग्रामीण और किसानों में भारी दहशत है। क्योंकि अब रबी की फसलों का काम जोरों से शुरु है। इसकी वजह से किसान और खेतिहर मजदूरों में भारी दहशत है।