Mumbai Police stops investigation of extortion case in cruise drugs case, SET had questioned about 20 people
File Photo: ANI

    मुंबई: क्रूज़ ड्रग्स केस (Cruise Drugs Case) में सैम डिसूजा (Sam Dsouza) सोमवार को मुंबई पुलिस 9Mumbai Police) के विशेष जांच दल (एसआईटी) (SIT) के सामने पेश हुआ। इस मामले में भुगतान के आरोपों के संबंध में डिसूजा का नाम सामने आया था। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान (Bollywood Actor Shahrukh Khan) के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) को पिछले महीने स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) (NCB) ने क्रूज जहाज पर छापा मारने और जहाज पर मादक पदार्थ जब्त करने का दावा करने के बाद गिरफ्तार किया था।

    आर्यन खान को बाद में बंबई उच्च न्यायालय ने जमानत दे दी थी। स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सैल ने पिछले महीने दावा किया था कि उसने एनसीबी के गवाह के पी गोसावी को एनसीबी द्वारा आर्यन खान को गिरफ्तार किए जाने के बाद फोन पर डिसूजा के साथ 25 करोड़ रुपये के भुगतान सौदे पर चर्चा करते हुए सुना था। मुंबई पुलिस ने बाद में मामले के संबंध में एनसीबी अधिकारियों के खिलाफ जबरन वसूली के आरोपों की जांच के लिए एक एसआईटी का गठन किया।

    एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सोमवार को डिसूजा अपने वकील पंकज जाधव के साथ अपना बयान दर्ज कराने के लिए अपराह्न लगभग 12 बजकर 45 मिनट पर दक्षिण मुंबई में एसआईटी के कार्यालय पहुंचा। क्रूज मादक पदार्थ मामले में भुगतान के आरोपों की भी जांच कर रही एनसीबी की सतर्कता टीम पहले ही डिसूजा का बयान दर्ज कर चुकी है। इससे पहले, डिसूजा ने बम्बई उच्च न्यायालय के समक्ष दायर अपनी गिरफ्तारी पूर्व जमानत याचिका में दावा किया था कि गोसावी ने आर्यन खान को रिहा कराने के लिए शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी से 50 लाख रुपये लिए थे।

    याचिका में कहा गया है कि एनसीबी द्वारा तीन अक्टूबर को मामले में आर्यन खान को गिरफ्तार करने के बाद राशि वापस कर दी गई थी। डिसूजा ने यह भी दावा किया कि गोसावी ने उन्हें बताया था कि आर्यन खान के पास से कोई मादक पदार्थ नहीं मिला था और वह वास्तव में निर्दोष था।