MLA Nitin Deshmukh and Devendra Fadnavis

Loading

अकोला. शिवसेना (यूबीटी) विधायक नितिन देशमुख (Nitin Deshmukh) ने महाराष्ट्र (Maharashtra) के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) पर एक गंभीर आरोप लगाया है। उनका कहना है कि राज्य में सत्ता संघर्ष के दौरान जब एकनाथ शिंदे विधायकों के साथ सूरत चले गए थे तो फडणवीस ने उनकी हत्या की साजिश रची थी। उन्होंने दावा किया कि शिंदे गुट के एक विधायक ने ही उन्हें यह जानकारी दी है।

गौरतलब है कि 20 जून 2022 को एकनाथ शिंदे ने तत्कालीन मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ बगावत कर और अपने समर्थक विधायकों के साथ सूरत पहुंच गए थे। उन विधायकों में नितिन देशमुख भी शामिल थे।

देशमुख ने कहा, “जब शिंदे गुट के विधायकों ने उद्धव ठाकरे से बगावत की थी तो मैं कुछ विधायकों के कहने पर सूरत चला गया था। लेकिन जब मुझे पता चला कि इन सभी विधायकों ने उद्धव ठाकरे से बगावत कर दी है तो मैंने शिंदे का साथ देने से इनकार कर दिया।”

बता दें कि इस दौरान सूरत में नितिन देशमुख की हालत अचानक बिगड़ने की खबरें आई थीं। जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था।जबकि, उनकी पत्नी ने पुलिस में उनके लापता होने की शिकायत दर्ज कराई थी। इसके कुछ दिन बाद देशमुख शिंदे का साथ छोड़कर वापस उद्धव ठाकरे के पास आ गए थे। इस दौरान उन्होंने एकनाथ शिंदे और भाजपा पर उन्हें जबरन अगवा करने के आरोप लगाया था।

देशमुख ने कहा, “मैं उद्धव ठाकरे का साथ छोड़ने के लिए तैयार नहीं था और इसके चलते फडणवीस ने मेरी हत्या की साजिश रची थी। जिस अस्पताल में मुझे भर्ती कराया गया था वहां मुझे गलत इंजेक्शन लगाया गया था। मुझे डॉक्टरों की मदद से मारने की साजिश रची गई थी। इसीलिए फडणवीस ने मीडिया को झूठी खबर दी थी कि मुझे दिल का दौरा पड़ा है।”

देशमुख ने कहा, “मैं मौत से नहीं डरता। लेकिन ये लोग सत्ता के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। किसी को भी मार सकते हैं। परिवारों में दरार पैदा करने का काम किया जा रहा है।”