Schools reopen in Pune for students of classes I to VII from today
File Photo

    मुंबई: कोरोना (Coronavirus) महामारी देश के सबसे ज़्यादा प्रभावित इलाकों में से एक रहे मुंबई (Mumbai) में अब ज़्यादातर चीज़ें खुल चुकी हैं। ऐसे में त्यवहारों के मौसम के दौरान कोरोना पाबंदियों में ढील भी दी जा चुकी है। कोरोना काल में बंद हुए स्कूल (School) दिवाली (Diwali) की छुट्टियों के लिए फिलहाल बंद हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक, मुंबई में स्कूलों की छुट्टियां अब 22 नवंबर तक जारी रहने की खबर सामने आई है। एक रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार को जारी एक शिक्षा विभाग के परिपत्र में कहा गया है कि, मुंबई के स्कूल 22 नवंबर तक अपनी दिवाली की छुट्टी जारी रख सकते हैं लेकिन मुंबई के 292 स्कूल जिन्हें राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण (एनएएस) 2021 के लिए चुना गया है, गुरुवार को फिर से खुलेंगे। 

    राज्य ने छुट्टी में कटौती की थी और स्कूलों को शुक्रवार को किए जाने वाले सर्वेक्षण से एक दिन पहले गुरुवार को फिर से खोलने का निर्देश दिया था। राज्य भर में फिर से खोलने पर भ्रम बुधवार देर रात तक जारी रहा। इससे पहले, 3 नवंबर को एक परिपत्र में राज्य ने क्रिसमस या गर्मी की छुट्टियों के साथ लंबित दिवाली छुट्टियों को समायोजित करने के लिए इसे स्कूलों पर छोड़ दिया था।

    टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने महाराष्ट्र राज्य शिक्षण समिति के सचिव शिवनाथ दराडे के हवाले से कहा है कि, “सर्वेक्षण में भाग नहीं लेने वाले स्कूलों को फिर से खोलने का कोई मतलब नहीं है।” सर्वेक्षण में शत-प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए स्कूलों से कहा जा रहा है, माता-पिता पर बच्चों को स्कूल भेजने का दबाव बनाया जा रहा है। राज्य में, हालांकि, ग्रामीण क्षेत्रों में कक्षा 5 से 12 के लिए और शहरी में 8 से 12 के लिए माता-पिता की सहमति से स्कूल फिर से खुल गए थे। सर्वे के लिए अभिभावकों को गुरुवार और शुक्रवार को स्कूल में होना अनिवार्य बताया जा रहा है। 

    राज्य की स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने बुधवार को स्कूलों और अभिभावकों से सर्वेक्षण में भाग लेने और महाराष्ट्र को समग्र रैंकिंग में शीर्ष पर रखने का अनुरोध किया। जबकि सर्वेक्षण, भाषा, गणित और विज्ञान में लिखित परीक्षा के रूप में, देश के 1.25 लाख स्कूलों के 39 लाख छात्रों के लिए है, अंतिम संख्या शुक्रवार को जानी जाएगी। यूपी में सबसे अधिक 15,302 भाग लेने वाले स्कूल हैं, इसके बाद एमपी में 9,499 और महाराष्ट्र में 7,330 स्कूल हैं।