NCP leader Nawab Malik raised questions on Anil Deshmukh's arrest, said - Arrest is politically motivated, its purpose is to defame Maharashtra government
File

    मुंबई: मनी लॉन्ड्रिंग (Money Laundering) केस में महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। ईडी की शुक्रवार को हुई दशमुख के ठिकानों पर रेड के बाद एजेंसी ने शनिवार को देशमुख को समन किया है। प्रवर्तन निदेशालय ने अनिल देशमुख के खिलाफ पीएमएलए मामले में उन्हें शनिवार को एजेंसी के समक्ष पेश होने को कहा है।

    खबर है कि, देशमुख करीब 11 बजे के आसपास ईडी दफ्तर पहुंच सकते हैं जिसके बाद ईडी अधिकारी उनसे मामले में पूछताछ करेंगे। इससे पहले ईडी ने मुंबई और नागपुर में देशमुख के कई ठिकानों पर छापेमारी की थी।

    वहीं 100 करोड़ रुपये की रिश्वत के आरोपों के सिलसिले में अनिल देशमुख के खिलाफ दर्ज धन शोधन के मामले में उनके दो सहायकों को केंद्रीय एजेंसी ने गिरफ्तार किया है। धन शोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत करीब नौ घंटे की पूछताछ के बाद देशमुख के निजी सचिव संजीव पलांडे और निजी सहायक कुंदन शिंदे को गिरफ्तार किया गया है।

    बताया जा रहा है कि, शनिवार को मुंबई में विशेष पीएमएलए अदालत में इन्हे पेश किया जाएगा जहां ईडी पूछताछ के लिए उनकी हिरासत का अनुरोध करेगी।