eknath shinde and devendra fadnavis and sharad pawar

Loading

मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने शुक्रवार को राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के संस्थापक शरद पवार (Sharad Pawar) का लंच इनविटेशन ठुकरा दिया है। दोनों नेताओं ने अपने व्यस्त कार्यक्रम के चलते पवार का लंच इनविटेशन ठुकराया है। हालांकि, अभी तक अजित पवार के लंच पर जाने पर सस्पेंस बना हुआ है।

क्या बोले एकनाथ शिंदे

मुख्यमंत्री शिंदे ने पवार के निमंत्रण के जवाब में उन्हें एक पत्र लिखा, जिसमें उन्होंने कहा, “28 फरवरी को आपका पत्र मिला। मुझे अपने आवास पर भोजन के लिए आमंत्रित करने के लिए मैं आपको धन्यवाद देता हूं। लेकिन पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों के कारण इस बार नहीं आ पाने के लिए मैं माफी चाहता हूं।” उन्होंने आगे कहा, “मुझे लगता है कि भविष्य में हमें आपके घर पर भोजन करने का अवसर अवश्य मिलेगा। निमंत्रण के लिए फिर से धन्यवाद!!”

Eknath Shinde Letter

फडणवीस ने भी पवार को लिखा पत्र

उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने पवार के पत्र जवाब देते हुए एक पत्र लिखा, जिसमें उन्होंने कहा, “आपका पत्र मिला। मुझे भोजन पर आमंत्रित करने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद। जैसा कि आप जानते हैं, उपमुख्यमंत्री अजितदादा पवार की पहल पर नमो महारोजगार मेला आयोजित किया गया है। बारामती में विशाल कार्यक्रम को देखते हुए कल पूरा दिन बहुत व्यस्त रहने वाला है, इसके बाद वढू बुद्रुक और तुलापुर में छत्रपति संभाजी महाराज के स्मारकों का भूमिपूजन होगा, इसके तुरंत बाद प्रारंभिक क्रांतिकारी लहूजी वस्ताद सालवे के स्मारक का भूमिपूजन होगा। इसलिए इस समय आपकी निमंत्रण का सम्मान करना संभव नहीं होगा। एक बार फिर धन्यवाद।”

Devendra fadanvis Letter

क्या बोले थे शरद पवार

गौरतलब है कि शरद पवार ने गुरुवार को भतीजे अजित पवार, एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस को 2 मार्च को बारामती स्थित अपने आवास पर लंच के लिए आमंत्रित किया था। शरद पवार ने तीनों नेताओं को लिखे पत्र में कहा, “राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के बाद, मुख्यमंत्री पहली बार बारामती आ रहे हैं और बारामती में नमो महारोजगार कार्यक्रम में भाग लेने के लिए उनकी यात्रा को लेकर मैं बहुत खुश हूं। इसलिए मैं कार्यक्रम के बाद उनके अन्य कैबिनेट सहयोगियों को अपने आवास ‘गोविंदबाग’ पर भोजन के लिए निमंत्रण देना चाहता हूं।”