shinde
Pic: Social Media

    पणजी. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एवं शिवसेना के नेता एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) ने शुक्रवार को कहा कि न केवल विधानसभा में उनके साथी विधायक, बल्कि पूरा राज्य इस बात से खुश है कि ‘‘बालासाहेब ठाकरे का शिवसैनिक मुख्यमंत्री बना है।” शिंदे ने उन पर विश्वास दिखाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) सहित अन्य नेताओं का शुक्रिया भी अदा किया।

    शिवसेना के बागी विधायकों के समूह, निर्दलीय विधायकों और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के समर्थन से शिंदे ने बृहस्पतिवार को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण की थी। मुंबई में शपथ लेने के बाद शिंदे आधी रात को ही गोवा लौट आए और वहां उनका इंतजार कर रहे अपने साथी विधायकों से मिले। वह केवल शपथ ग्रहण करने के लिए ही बृहस्पतिवार दोपहर को मुंबई गए थे। उन्होंने गोवा हवाई अड्डे पर पत्रकारों से कहा कि महाराष्ट्र उनके 50 विधायकों की वजह से ही यह दिन देख पाया है।

    शिंदे ने कहा, ‘‘मेरे साथी विधायक और पूरा महाराष्ट्र बेहद खुश है कि बाला साहेब ठाकरे का शिवसैनिक राज्य का मुख्यमंत्री बना है।” मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार वही काम करेगी, जिसकी महाराष्ट्र के लोग उनसे उम्मीद कर रहे हैं। शिंदे ने कहा कि उनकी सरकार समाज के हर तबके के साथ न्याय करने के लिए काम करेगी। उन्होंने कहा, ‘‘हम बालासाहेब ठाकरे की विचारधारा को आगे बढ़ांएगे।” मंत्रिमंडल के विस्तार के सवाल पर उन्होंने कहा कि भविष्य की रणनीति पर उनके साथी विधायकों के साथ बैठक में फैसला किया जाएगा। इसके बाद उन्होंने गोवा के डोना पाउला रिज़ॉर्ट में पहुंचने पर पत्रकारों से कहा कि वह मोदी, शाह और भाजपा के नेता देवेंद्र फडणवीस का उन पर विश्वास दिखाने के लिए शुक्रिया अदा करते हैं।

    शिंदे ने कहा, ‘‘फडणवीस ने मुझे मुख्यमंत्री बनने का मौका देकर बड़ा दिल दिखाया है।” उन्होंने कहा कि वह सुनिश्चित करेंगे कि उन सभी 50 विधायकों के निर्वाचन क्षेत्रों में पर्याप्त विकास कार्य हो, जिन्होंने उनका समर्थन किया है। शिवसेना नेता ने यह भी कहा कि वह इन विधायकों के पिछले ढाई साल के काम से अच्छी तरह वाकिफ हैं। उन्होंने 175 विधायकों का समर्थन होने का दावा करते हुए कहा कि विधानसभा में शक्ति परीक्षण ‘‘मात्र औपचारिकता” है।

    यह पूछे जाने पर कि वह ठाकरे परिवार के आवास ‘मातोश्री’ कब जाएंगे, शिंदे ने जवाब दिया, ‘‘आपको इसके बारे में सही समय पर पता चल जाएगा।” गौरतलब है कि शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने बृहस्पतिवार को महाराष्ट्र के 20वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली थी, जबकि फडणवीस ने उपमुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण की थी। बृहस्पतिवार का दिन चौंका देने वाली घोषणाओं का रहा, जिसने राज्य में एक हफ्ते से अधिक समय से चले आ रहे राजनीतिक संकट का नाटकीय तरीके से अंत कर दिया।