Three cases including revenue inspector sued in case of misappropriation of land in documents

    Loading

    ठाणे: महाराष्ट्र में ठाणे पुलिस स्कूल की प्रधानाध्यापिका (headmistress) और महिला लिपिक (lady clerk) के खिलाफ 20 लाख रुपये से अधिक की धनराशि (misappropriating) की कथित तौर पर हेराफेरी करने का मामला दर्ज किया गया है। एक पुलिस अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। ठाणे नगर पुलिस थाने के अधिकारी के मुताबिक, स्कूल की प्रधानाध्यापिका स्मिता राजलक्ष्मी नायर (Smita Rajalakshmi Nair) और कनिष्ठ लिपिक नीलम मिलिंद कांबले (Neelam Milind Kamble) के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 409, 420, 467, 468, 471 व 475 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

    उन्होंने कहा कि दोनों पर कथित तौर पर 20,53,621 रुपये की हेराफेरी करने का आरोप है। मालूम हो कि ठाणे पुलिस स्कूल का स्वामित्व जिले के पुलिस आयुक्तालय के पास है और इसका संचालन एक निजी ट्रस्ट द्वारा किया जाता है। शिकायत के अनुसार, धन की कथित हेराफेरी 2008 से 2021 के बीच की गई थी।

    अधिकारी ने बताया कि दोनों आरोपियों ने छात्रों के लिए पहचान पत्र तैयार करने, शिक्षकों को अतिरिक्त कक्षाओं के भुगतान, कक्षा 12 के छात्रों के पंजीकरण शुल्क, बोर्ड परीक्षा के पर्यवेक्षकों के लिए शुल्क और छात्रों की छात्रवृत्ति से संबंधित मामलों में धन की कथित हेराफेरी की। पुलिस के मुताबिक, स्कूल के खातों के ऑडिट से संकेत मिला कि दोनों ने धोखाधड़ी की थी, जिसके बाद स्कूल ट्रस्ट ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। (एजेंसी)