37 मरीज हुए नशे से मुक्त; विठठलरावपेठा, तुलशी, झेंडेपार में क्लिनिक आयोजित

    गड़चिरोली. सिरोंचा तहसील के विठठलरावपेठा माल, देसाईगंज तहसील के तुलशी व कोरची तहसील के झेंडेपार में एक दिवसीय नशा उपचार क्लिनिक का आयोजन किया गया था. इस क्लिनिक में कुल 37 मरीजों ने उपचार लेकर नशामुक्त होने का संकल्प किया. 

    विठठलरावपेठा माल (रेगुंठा) में आयोजित क्लिनिक में 13 मरीजों ने पंजीयन कर पूर्ण उपचार लिया. मरीजों का पंजीयन तहसील संगठक सुनीता भगत ने किया. केस हिष्ट्री संयोजिका पूजा येल्लुरकर ने ली. तो समुपदेशन साईनाथ मोहुर्ले ने किया. शिविर का नियोजन तहसील प्रेरक संतोष चंदावार ने किया. उपक्रम की सफलता हेतु ग्रामपंचायत के उपसंरपंच श्रीनिवास कडरला, कर्मचारी सतीश सुंकरी, शंकर गंडु, मुक्तीपथ के स्वयंसेवक चंदू डोबला इनके साथ आशावर्कर पुष्पा नलागुंठा ने सहयोग किया.

    देसाईगंज तहसील के तुलशी में दुसरी बार नशा उपचार क्लिनिक का आयोजन किया गया था. इसमें कुल 11 मरीजों ने पंजीयन किया था. जिसमें से 10 मरीजों पर उपचार किया गया. इस समय प्राजु गायकवाड ने मरीजों का समुपदेशन किया. प्रभाकर केलझरकर ने मरीजों को शराब के दूष्परिणाम बताते हुए केस हिष्ट्री ली.

    इस क्लिनिक का नियोजन तहसील संगठक भारती उपाध्ये ने किया. सफलता हेतु सरपंच चंद्रकांत नाकाडे, उपसरपंच सुरेश तोंडफोडे, ग्रापं सदस्य, शराबबंदी समिति के अध्यक्ष सीमा मारबते, सत्यवान लोणारे इनके साथ ग्रापं सदस्य व गांव संगठना ने सहयोग किया. झेंडेपार में आयोजित क्लिनिक में 14 मरीजों पर उपचार किया गया. इस दौरान मुक्तिपथ अभियान के उप संचालक संतोष सावलकर ने क्लिनिक को भेट देकर मार्गदर्शन किया.

    मरीजों की केस हिष्ट्री प्रभाकर केलझरकर ने ली. वहीं प्राजु गायकवाड ने मरीजों को समुपदेशन करते हुए शराब के दूष्परिणाम बताएं. इस क्लिनिक का नियोजन तहसील संगठक निला किन्नाके ने किया. सफलता हेतु ग्रामसभा अध्यक्ष सुनिल होली, उपसरपंच अविनाश होली, पुलिस पाटेल जुमेनसिंग होली, राकेश ढवडे ने सहयोग किया.