शिविर से 425 आदिवासीयों का आधार पंजीयन, लाहेरी उपपुलिस थाने का उपक्रम

    भामरागढ़. तहसील का लाहेरी परिसर यह आदीवासी बहुल, नक्सलप्रभावीत क्षेत्र है. इस क्षेत्र के नागरिक बुनियादी अधिकार से वंचित है. इन नागरिकों को विकास हेतु गडचिरोली पुलिस दल व उपपुलिस थाना लाहेरी ने जनसेवा का व्रत लिया है. इस अंतर्गत विभिन्न शिविर के माध्यम से लाहेरी परिसर के करीबन 425 आदिवासीओं का आधार पंजीयन किया गया. 

    गडचिरोली पुलिस दल व उप पुलिस थाने लाहेरी के अधिकारी व कर्मचारी के प्रयास से थाने परिसर के नागरिकों के लिए आधार पंजीयन व दुरुस्ती शिविर तथा आयुष्यमान भारत विमा गोल्डन कार्ड शिविर लिया गया. पुलिस अधीक्षक अंकित गोयल के संकल्पना से ‘पुलिस दादालोरा खिड़की’ इस योजना अंतर्गत 1 से 3 दिसंबर 2020 को आधार पंजीयन व दुरुस्ती शिविर आयोजित किया गया था.

    नागरिकों ने व्यापक प्रतिसाद व और शिविर लेने के आग्रह से लाहेरी थाने के प्रभारी अधिकारी अविनाश नालेगावकर ने फिर से 19, 20, 21 अगस्त व 17, 18 सितंबर 2021 को शिविर का आयोजन कर कुल 425 नागरिकों का आधार पंजीयन, दुरुस्ती करा ली. इस शिविर में बालक, वृद्ध, युवा, महिलाओं ने बड़े पैमाने में हिस्सा लिया. 

    शिविर के सफलतार्थ अपर पुलिस अधीक्षक सोमय मुंडे, उप विभागीय पुलिस अधिकारी कुणाल सोनवणे के मार्गदर्शन में पुलिस उपनिरीक्षक अजय राठोड, पुलिस उपनिरीक्षक विजय सपकल तथा पुलिस थाने के तुकाराम हिचमी, कोरके परसा, अरुण कुमार टेकाम, शालू नामेवार, वर्षा डांगे, डेविड चौधरी, हमीद डोंगरे, नितीन जुवारे, चिरंजीव दुर्गे, अमित कुलेटी, मोहिंदर मानकर, निखील तलांडे, पंकज नवघरे, सोनाली नैताम आदि समेत कर्मीओं ने परिश्रम लिया. 

    1135 नागरिकों को वैद्यकीय विमा कवच

    आदिवासीबहुल, गरीब, जरूरतमंद लोगों के लिए पंतप्रधान, भारत सरकार ने शुरू की हुई आयुष्यमान भारत गोल्डन कार्ड बिमा योजना अंतर्गत हर परिवार व वहां के सदस्य को 5 रूपयों तक का बिमा कवच मिलता है. उक्त योजना की दादालोरा खिडकी अंतर्गत उपपुलिस थाने लाहेरी में दो बार आयुष्यमान भारत शिविर का आयोजन कर कुल 1135 नागरिकों को गोल्डन कार्ड निकालकर देकर वैद्यकीय बिमा कवच दिलाया.