शहर की विभिन्न समस्या की ओर खिंचा ध्यान, शहर विकास आघाडी ने ली अधिकारियों की भेट

    गड़चिरोली. गड़चिरोली शहर में नए से स्थापन हुए गड़चिरोली शहर विकास आघाडी के पदाधिकारियों ने शहर के विभिन्न समस्याओं को लेकर विभिन्न अधिकारियों से मुलाकात की. उन्हे शहर की समस्याएं अवगत कराते हुए उक्त समस्याएं यथाशिघ्र हल करने की मांग की गई.

    राष्ट्रीय महामार्ग कार्यकारी अभियंता की भेट लेकर गड़चिरोली – चामोर्शी महामार्ग का निर्माण तत्काल पूर्ण करे तथा इंदिरा गांधी चौक में निर्माण हुआ बडा गड्डा तत्काल बुझाकर सड़क यातायात के लिए खुली करे ऐसी मांग की. इसके पश्खत प्रतिनिधि मंड़ल ने नगर परिषद के मुख्याधिकारी विशाल वाघ से मुलाकात कर गड़चिरोली शहर में करोडो रूपये खर्च कर निर्माण किए गए भुमिगत गटार योजना तत्काल पूर्ण कर शुरू करे, इस योजना से वंचित बस्तीयां तथा शहर के कुछ हिस्सों का इसमें समावेश करने की मांग की.

    शहर के अनेक सड़कों पर चेंबर का निर्माण गलत पद्धति से होने के कारण वाहनधारकों को परेशानी हो रही है. जिससे इसकी मरम्मत करे, गोकुलनगर से आईटीआई मार्ग की तत्काल मरम्मत करे, विर बाबुराव शेडमाके चौक से आईटीआई तक के बायपास मार्ग का निर्माण करने की मांग की गई.

    लोकनिर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता साखरवाडे की भी प्रतिनिधि मंड़ल ने भेट लेकर शहर की सड़के बस्तीयों को उचित रूप से जोडे नहीं होने के कारण नागरिकों को काफी परेशानियां हो रही है. इन समस्याओं को लेकर अधिकारियों ने सकारात्मक चर्चा कर उपाययोजना करने का आश्वासन दिया. प्रतिनिधि मंड़ल में अखिल भारतीय रिपब्लिकन पार्टी के केंद्रीय उपाध्यक्ष रोहिदास राऊत, बीआरएसपी के प्रदेश उपाध्यक्ष डा. कैलास नगराले, पीरीपा के जिलाध्यक्ष मुनिश्वर बोरकर, जय विदर्भ पार्टी के जिलाध्यक्ष अरूण पाटील मुनघाटे, पूर्व सभापति चंद्रशेखर भडांगे इनके साथ प्राचार्य प्रकाश दुधे, हंसराज उंदीरवाडे, प्रदिप भैसारे, रोशन उके, जिवन मेश्राम आदि का समावेश था.