जिले की समस्याएं हल करने ध्यान दे, विधायक डा. होली की राज्यपाल से बिनती

    गड़चिरोली. महामहीम राज्यपाल यह अपेन अधिकार अंतर्गत पालक के रूप में गड़चिरोली इस अतिदुर्गम आदिवासी जिले की समस्या हल करने ध्यान दे, ऐसी बिनती विधायक डा. देवराव होली ने गड़चिरोली जिले दौरे पर आए महामहीम राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी इनकी सर्किट हाऊस में भेट लेकर की. इस संदर्भ का ज्ञापन भी सौंपा गया. 

    इस समय सांसद अशोक नेते, पंस के उपसभापति विलास दशमुखे, बंगाली आघाडी के जिलाध्यक्ष सुरेश शहा, ओबीसी मोर्चा के जिला महामंत्री भास्कर बुरे उपस्थित थे. इस समय विधायक डा. होली ने गोंडवाना विश्वविद्यालय के जमीन भूसंपादन में किसानों का नुकसान न हो, इसका ध्यान रखने की आवश्यकता होने की बात महामहीम राज्यपाल कोश्यारी से कहीं. किसानों को अधिक से अधिक लाभ हो, इसका विचार करे, ऐसी बिनती राज्यपाल से की गई.

    गड़चिरोली जिले में वनों का प्रमाण अधिक मात्रा में होने से व वनकानुन लागू होने से अनेक सिंचाई प्रकल्प प्रलंबित है. जिससे वैनगंगा नदी पर स्थित चिचडोह के पानी का उपयोग कर भेंड़ाला समिप राजीव उपसा सिंचाई योजना, कोटगल समिप निर्माणाधीन कोटगल बैरेज के तर्ज पर वसा-पोर्ला सिंचाई प्रकल्प मंजूर कर उसे निधि उपलब्ध कराने की सूचना राज्य सरकार से करे, ऐसी बिनती विधायक ने राज्यपाल से की. 

    लोहअयस्क कारखाने के लिए सरकार को निर्देश दे 

    सुरजागड़ लोह प्रकल्प के उत्खनन पर आधारित कोनसरी लोह अयस्क कारखाना शुरू करने पर स्थानीयों को बड़ी मात्रा में रोजगार उपलब्ध होगा. जिससे यह लोह अयस्क कारखाना शुरू करने के लिए राज्य सरकार को तत्काल कदम उठाने के निर्देश दे, उसी के साथ अतिदुर्गम क्षेत्र में मोबाईल व इंटरनेट सुविधा क्रियांन्वित करने के लिए दुर्गम क्षेत्र में बीएसएनएल के टॉवर निर्माण करने की आवश्यकता होने की बात समझाते हुए उसकी पूर्ती करने प्रयास करे, ऐसी बिनती भी विधायक डा. देवराव होली ने राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी से भेट के दौरान की.