मुख्य मार्गो का अतिक्रमण हटाए भाजपा पार्षद हुए आक्रमक, नगर परिषद में किया ठिय्या आंदोलन

    गड़चिरोली. शहर के मुख्य मार्गो पर छोटे-मोटे व्यवसायिकों द्वारा अतिक्रमण किए जाने के कारण शहर में हादसों का दौर शुरू हो गया है. इसके अलावा यातायात की समस्या भी निर्माण हो रही है. जिससे नगर परिषद प्रशासन और जिला प्रशासन का ध्यानाकर्षण कराने के साथ ही शहर के मुख्य मार्गो का अतिक्रमण हटाने की मांग को लेकर गुरूवार को भाजपा के पार्षदों ने नगर परिषद में ठिय्या आंदोलन किया. वहीं अपनी मांगों का ज्ञापन नगर परिषद के मुख्याधिकारी विशाल वाघ को सौंपा है.

    उक्त आंदोलन सांसद अशोक नेते, विधायक डा. देवराव होली, भाजपा जिलाध्यक्ष किसन नागदेवे के मार्गदर्शन में तथा भाजपा महामंत्री तथा पार्षद प्रमोद पिपरे, सभापति मुक्तेश्वर काटवे, नप उपाध्यक्ष अनिल कुनघाड़कर के मार्गदर्शन में  वर्षा शेडमाके, कविता उरकुडे, विनोद देवोजवार, केशव निंबोडे, वैष्णवी नैताम, निता उंदिरवाड़े, कोमल बारसागड़े, लता लाटकर आदि पार्षदों समेत  देवाजी लाटकर, जनार्धन भांडेकर, राजु शेरकी, शाम वाढई, रामन्ना बोंडकुलवार आदि भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित थे. 

    15 दिनों में 4 लोगों गवाई जान 

    वर्तमान स्थिति में शहर के चारों मुख्य मार्र्गाे पर व्यवसायिकों ने अतिक्रमण किया है. नगर परिषद द्वारा अतिक्रमणधारकों को अतिक्रमण हटाने संदर्भ में नोटिस भिजवाने के बाद आगे की प्रक्रिया रूक गयी है. लेकिन अतिक्रमण हटाने संदर्भ में किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं की जा रही है. शहर के मुख्य मार्गो पर अवैध अतिक्रमण के चलते पिछले 15 दिनों की कालावधि में हुई दुर्घटनाओं में 4 लोगों ने अपनी जान गवाई है. जिससे शहर के मुख्य मार्गो का अतिक्रमण तत्काल हटाने की मांग आंदोलनकर्ता भाजपा पार्षद और पदाधिकारियों ने की है. 

    नप में की नारेबाजी 

    वर्तमान स्थिति में गड़चिरोली यह शहर हादसों का शहर बन गया है. आए दिन शहर के विभिन्न मार्गो पर हादसे हो रहे है. जिसमें लोगों को अपनी जान भी गवाई पड़ रही है. लेकिन शहर के मुख्य मार्गो का अतिक्रमण हटाने संदर्भ में किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं की जा रही है. जिससे शहर के नागरिकों में तीव्र नाराजगी व्याप्त है. जिससे नाराज भाजपा पार्षद और पदाधिकारियों ने ठिय्या आंदोलन के दौरान नारेबाजी की.