File Photo
File Photo

    गड़चिरोली. बाघ के हमले में बैल घायल होने की घटना गोगाव खेत परिसर में आज, 27 अक्टूंबर को घटी. इस घटना से नागरिकों में बाघ की दहशत कायम है. जिससे इस बाघ का तत्काल बंदोबस्त करने की मांग परिसर क नागरिकों की ओर से की जा रही है. 

     गोगाव के किसान चुधरी के मालकी की भैस पर बाघ ने हमला कर मौत के घाट उतारने की घटना ताजा होने पर फिर से एक बैल पर बाघ ने घायल करने की घटना घटी है. प्राप्त जानकारी के अनुसार, गोगाव खेत परिसर में धान कटाई का कार्य शुरू था. शेतमालिक दादाजी नंदेश्वर ने अपने बैल खेत में बांधकर वे काम में व्यस्थ थे.

    इस दौरान बाघ ने बैल पर हमला किया. यह मामला किसानों के ध्यान में आते ही वे चिखने चिल्लाने पर बाघ जंगल की दिशा से फरार हो गया. किंतु इस हमले में बैल को गंभीर चौट आयी. जिससे किसान संकट में आ चुका है. अब तक बाघ ने अनेक मवेशियों की जान ली है. जिससे पशुपालकों का काफी बड़ा वित्तिय नुकसान हुआ है. मात्र, वनविभाग की अनदेखी होने से नागरिकों की ओर से रोष व्यक्त किया जा रहा है. हमले में घायल बैल पर उपचार शुरू है. वनविभाग तत्काल किसान को मदद दे व परिसर के बाघ का बंदोबस्त करे, ऐसी मांग परिसर के नागरिकों द्वारा की जा रही है. 

    बाघ दिखाई देते ही गाव की ओर भागी महिलाएं 

    गडचिरोली तहसील के दिभना खेत परिसर में धान कटाई का कार्य करनेवाले महिलाओं को बाघ के दर्शन होते ही महिलाओं ने काम छोडकर गाव की ओर दौड लगाई. अब खेत परिसर में बाघ दिखने से किसान व खेत मजदूरों में भय का वातावरण निर्माण हुआ है. जिससे अब धान कटाई भी दहशतपूर्ण वातावरण में करने की नौबत किसानों पर आ गयी है.